उत्तर प्रदेश

जानिए क्या है उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री निधि ईआईआर योजना, मिलेगा ये फायदा

जानिए क्या है उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री निधि ईआईआर योजना, मिलेगा ये फायदा
जानिए क्या है उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री निधि ईआईआर योजना, मिलेगा ये फायदा

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री जी ने नेशनल इनीशिएटिव फॉर डेवेलपिंग एण्ड हार्नेसिंग इनोवेशन्स-एण्ट्रप्रिन्योर इन रेजीडेन्स के द्वारा 29 अगस्त, 2017 को मुख्यमंत्री निधि ईआईआर योजना की शुरुआत की है।

इस योजना के तहत राज्य के इंजीनियरिंग कालेजों में से 11 छात्रों को चुना गया तथा उन्हें चेक प्रदान किए। योजना के अंतर्गत, चयनित छात्रों के आइडिया बहुत अनोखे हैं। इस योजना का उद्देश्य इंजीनियरिंग कॉलेजों के मेधावी युवा छात्रों को एक वर्ष तक फेलोशिप प्रदान करना है।

क्या है मुख्यमंत्री ने निधि ईआईआर योजना

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इंजीनियरिंग कॉलेजों के मध्यवर्ती उम्मीदवारों के लिए एक नई योजना शुरू की है। इस योजना का नाम ईआईआर स्कीम है। ये योजना 29 अगस्त, 2017 को शुरू हुई।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है बिहार सरकार की 11वीं और 12वीं छात्रों के लिए छात्रवृत्ति योजना

उम्मीदवारों को उनके अनूठे विचारों के आधार पर चुना गया है। चयनित छात्रों का विचार अद्वितीय है है। इस योजना के अंतर्गत, राज्य सरकार अगले एक वर्ष के लिए चयनित उम्मीदवारों को छात्रवृत्ति प्रदान करेगी।

मुख्यमंत्री ने निधि ईआईआर योजना का उद्देश्य

मुख्यमंत्री ने निधि ईआईआर योजना का उद्देश्य है छात्रो की आर्थिक सहायता प्रदान की जाये इसलिए इंजीनियरिंग कॉलेजों के माधवी छात्रों को सरकार एक वर्ष तक की फेलोशिप प्रदान की जाएगी।

योजना के तहत फेलोशिप के रूप में युवकों को 20 हजार रुपये से लेकर 30 हजार रुपये प्रतिमाह तक फेलोशिप प्रदान की जाएगी। योजना के तहत, योग्यता के अनुसार सीड सपोर्ट मनी (कोलैट्रल फ्री ऋण) भी प्रदान की जाएगी। इस योजना के द्वारा प्रतिभाशाली युवकों को प्रोत्साहन मिलेगा।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है इंदिरा गांधी राष्‍ट्रीय वृद्धावस्‍था पेंशन योजना, आप भी कराएं बुजुर्गों का नामांकन

मुख्यमंत्री ने निधि ईआईआर योजना की राशि

निधि-ईआईआर (नेशनल इनीशिएटिव फाॅर डेवेलपिंग एण्ड हार्नेसिंग इनोवेशन्स-एण्ट्रप्रिन्योर इन रेजीडेन्स) के तहत इन युवकों को अगले एक वर्ष तक 20 हजार रुपये से लेकर 30 हजार रुपये प्रतिमाह तक फेलोशिप प्रदान की जाएगी।

इसके बाद इनके अर्हता के अनुसार सीड सपोर्ट मनी (कोलैट्रल फ्री ऋण) भी प्रदान की जा सकती है, जिससे वे अपना स्टार्टअप सफलतापूर्वक संचालित कर स्वयं को आर्थिक रूप सुदृढ़ करने के साथ ही, देश के आर्थिक विकास को भी गति प्रदान कर सकें।

छात्रों को अनेक प्रोजेक्ट के तहत मिलेगी राशि

छात्रों को प्रोजेक्ट में गो ग्लास-जिसके माध्यम से रेल एवं सड़क पर ड्राइवरों को नींद आने से होने वाली दुर्घटनाओं को रोका जा सकता है। इनर्जी इफीशिएण्ट इकोनाॅमिकल मोटर बाइक, सेंसर बेस्ड स्मार्ट वेस्ट मैनेजमेंट सिस्ट, प्रदूषण रोकने के लिए हाइब्रेड इलेक्ट्रिकल बाइसाइकिल, सोलर पावर प्लाण्ट में आने वाली खराबियों की आईओटी तकनीक आधारित माॅनीटरिंग व्यवस्था के लिए।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है बिहार सरकार की लक्ष्मीबाई सामाजिक सुरक्षा योजना, सरकार देगी पैसा

जिसके साथ ही बिना पानी के सोलर पैनल्स की आॅटोमेटेड सफाई व्यवस्था, आर्टिफिशियल इन्टेलीजेंस का प्रयोग करते हुए संरक्षा एवं सुरक्षा तथा चेहरे की पहचान एवं ग्राहकों को उनकी खरीदी गयी वस्तुओं का लाभ दिलवाने के लिए साॅफ्टवेयर एवं हार्डवेयर का निर्माण शामिल है। नेशनल इनीशिएटिव फाॅर डेवेलपिंग एण्ड हार्नेसिंग इनोवेशन्स-एण्ट्रप्रिन्योर इन रेजीडेन्स के तहत इन युवकों को अगले एक वर्ष तक 20 हजार रुपये से लेकर 30 हजार रुपये प्रतिमाह तक फेलोशिप प्रदान की जाएगी।

Click to comment

Most Popular

To Top