मुख्यमंत्री योजना

जानिए क्या है राजस्थान सरकार की हमारी बेटी योजना, मिलेगी 2 लाख की सहायता

जानिए क्या है राजस्थान सरकार की मुख्यमंत्री हमारी बेटी योजना, मिलेगा ये लाभ

जानिए क्या है राजस्थान सरकार की मुख्यमंत्री हमारी बेटी योजना, मिलेगा ये लाभ


राजस्थान में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने राज्य की लड़कियों के लिए एक बहुत ही उपयोगी योजना शुरू की है। जिसका नाम मुख्यमंत्री हमारी बेटी योजना है। राज्य में 10वीं और 12वीं कक्षा में प्रथम आने वाली लड़कियों के लिए ये योजना बहुत ही लाभकारी है। इस साल मुख्यमंत्री हमारी बेटी योजना के अंतर्गत राजस्थान सरकार ने राज्य में प्रथम आने वाली 92,000 हजार लड़कियों को गार्गी पुरस्कार से सम्मानित किया है।

इस योजना के अंतर्गत राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने राज्य के प्रत्येक जिले से तीन प्रतिभाशाली लड़कियों को वित्तीय सहायता के साथ जरुरी चीजें प्रदान का करने के लिए चुना है। मुख्यमंत्री हमारी बेटी योजना के अंतर्गत राज्य सरकार लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए बहुत सारी योजनाओं पर कम कर रही है।

राज्य की गरीब लड़कियाँ जिनकी आर्थिक दशा कमजोर है उन्हें शिक्षा प्राप्त करने में योजना से सहायता मिलेगी। राज्य सरकार ने पहले ही गार्गी पुरस्कार में राज्य की प्रतिभाशाली लड़कियों को साईकिल और लैपटॉप प्रदान किये हैं। दुनियां को बदलने के लिए शिक्षा एक बहुत ही ताकतवर हथियार है।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है मध्य प्रदेश सरकार की पोस्टमैन मोबाइल एप, फोन पर देखें अपना डाक

क्या है मुख्यमंत्री हमारी बेटी योजना

राजस्थान हमारी बेटी योजना का शुभारंभ हो चुका है। मुख्यमंत्री हमारी बेटी योजना राजस्थान के तहत मेधावी छात्राओं का चयन किया जाएगा। उन्हें फ्री शिक्षा का लाभ दिया जाएगा। राजकीय विद्यालयों में अध्ययनरत माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की सैकंडरी परीक्षा में प्रत्येक जिले से दो मेधावी छात्राओं का चयन कर निःशुल्क शिक्षा प्रदान की जा रही थी।

इस योजना के तहत सत्र 2017-18 के अनुसार, परीक्षा में 75 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने वाली पात्र तीन छात्राओं को सूची में शामिल किया जाएगा, जिसमें दो सर्वोच्च अंक एवं एक बीपीएल सर्वोच्च अंक प्राप्त करने वाली छात्रों का चयन होगा।

मुख्यमंत्री हमारी बेटी योजना का उद्देश्य

राजस्थान मुख्यमंत्री हमारी बेटी योजना का मुख्य उद्देश्य लड़कियों के स्तर को ऊपर उठाना है। क्योंकि राजस्थान सरकार का मानना है बहुत सी लड़कियां पैसों की कमी के कारण शिक्षा प्राप्त नहीं कर पाते हैं।

परंतु अब ऐसा नहीं वह लड़कियों के शिक्षा स्तर ऊपर उठाया जाएगा। ताकि राजस्थान की लड़कियां आगे बढ़ सके| चयनित बेटियां खेलकूद, इंजीनियरिंग, मेडिकल या किसी अन्य क्षेत्र में आगे बढ़ना चाहती हैं तो सरकार उसे अलग से वित्तीय सहायता प्रदान भी करेगी।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है मध्य प्रदेश में शाला सिद्धि प्रोत्साहन योजना, विद्यार्थियों को मिलेगी अच्छी शिक्षा

राजस्थान मुख्यमंत्री हमारी बेटी योजना के लाभ

राज्य के सभी जिलों से 10वीं कक्षा में प्रथम आने वाली तीन लड़कियों को 2.25 लाख रूपये की वित्तीय सहायता प्रदान करेगी।

सरकार 11वीं और 12वीं कक्षा में पढ़ने वाली लड़कियों को 15,000 और उच्च शिक्षा के लिए 25000 हजार रूपये की वित्तीय सहायता प्रदान कर रही है।
गरीबी रेखा से निचे रहने वाली तीन लड़कियों को वित्तीय सहायता का लाभ।

राज्य सरकार ने इस साल 92,000 हजार लड़कियों को गार्गी पुरस्कार प्रदान किये हैं।

राजस्थान की लड़कियां आगे बढ़ सके।

मुख्यमंत्री हमारी बेटी योजना के लिए पात्रता

 

छात्रा राजस्थान की  निवासी होनी चाहिए।

लड़कियां ही इस योजना की पात्र हैं।

10वीं कक्षा में प्रथम आने वाली केवल तीन लड़कियां।

10वीं कक्षा में प्रथम आने वाली BPL श्रेणी की केवल एक लड़की राजस्थान मुख्यमंत्री हमारी बेटी योजना की पात्र है।

मुख्यमंत्री हमारी बेटी योजना के लिए जरुरी कागजात

पासपोर्ट  फोटो


10वीं की मार्कशीट


आधार कार्ड

आवेदक का बैंक खाता नंबर


भामाशाह कार्ड


BPL कार्ड


आई.ऍफ़.इस. कार्ड


इसे भी पढ़े   जानिए क्या है अमृत योजना, कैसे देश के हर गांव में होंगी शहर जैसी सुविधाएं


कैसे मुख्यमंत्री हमारी बेटी योजना का आवेदन करें

आवेदक स्कूल के हेडमास्टर/संसथान के प्राचार्य से मिलें

आवेदक राजस्थान के जिला शिक्षा अधिकारी से इस योजना का लाभ लेने के लिए मिल सकते हैं

या फिर ibs.rajasthan.gov.in वेबसाइट पर क्लिक करें


आपको वेबसाइट पर राजस्थान मुख्यमंत्री हमारी बेटी योजना का फॉर्म दिखाई देगा


इस फॉर्म को ध्यानपूर्वक भरे।

सबमिट बटन पर क्लिक करें।


योजना की महत्वपूर्ण बातें

इस योजना में राज्य के 33 जिलों में से 99 छात्राओं का चयन किया जाएगा।

योजना के तहत 11वीं कक्षा/ व्यवसायिक शिक्षा/ प्रशिक्षण से स्नातकोत्तर की शिक्षा/ प्रशिक्षण प्राप्त करने तक वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।

योजना के तहत चयनित छात्राओं को कक्षा 11वीं व 12वीं/ व्यवसायिक शिक्षा/ शिक्षण संस्थान में अध्ययन शुल्क, खेल विद्यालय/ खेल कोचिंग संस्थानों में प्रशिक्षण/ प्रतियोगी परीक्षाओं की कोचिंग शुल्क, छात्रावास शुल्क आदि राशि का वास्तविक व्यय भुगतान संस्थानों के बैंक खाते में जमा कर दिया जाएगा।

योजना के तहत प्रति छात्रा अधिकतम 1 लाख रुपये तक प्रतिवर्ष व्यय किया जाएगा।

छात्रा को किताबें, स्टेशनरी, यूनिफार्म आदि के लिए 25000 रुपये वार्षिक प्रदान किये जाएगी।

Click to comment

Most Popular

To Top