मध्य प्रदेश

जानिए क्या है मध्य प्रदेश सरकार की 20 अटल आश्रय योजना, ऐसे मिलेगा लाभ

जानिए क्या है मध्य प्रदेश सरकार की 20 अटल आश्रय योजना, ऐसे मिलेगा लाभ

मध्य प्रदेश राजधानी भोपाल में हाउसिंग बोर्ड वित्त वर्ष 2017-18 में ‘20 अटल आश्रय योजना अर्थात आवास योजनाओं को मंजूरी दी गई है। योजना के तहत E.W.S व  L.I.G  श्रेणी में आने वाले गरीबों के लिए मकान बनाने की योजना है। इसके लिए बोर्ड द्वारा वार्षिक प्रोग्राम जारी किया गया है।

जिसके अधीन भोपाल बोर्ड के सर्किल एक व दो में 613 E.W.S व  836 L.I.G श्रेणी के लोगों के लिए सरकार द्वारा स्वतंत्र मकान बनाए जाएंगे। इसके लिए 250 लाख रुपए का प्रावधान है। वहीं योजना के अंतर्गत 666 E.W.S  व  1074 L.I.G फ्लैट बनाने की भी योजना है।

क्या है अटल आश्रय योजना

हाल ही में मध्य प्रदेश में अटल आश्रय योजना के क्रियान्वयन के लिए गठित मंत्रिपरिषद् समिति ने गृह निर्माण एवं अधोसरंचना विकास मंडल की ‘20 अटल आश्रय आवासीय योजनाओं’ को स्वीकृति प्रदान की  है। समिति ने इन योजनाओं में कमजोर एवं निम्न आय वर्गों के लिए 18 जिलों में 3,395 स्वतंत्र आवास और 1,372 प्रकोष्ठ बनाए जाने की ख़ा योजना तैयार की है। इनमें 2,838 E.W.S श्रेणी तथा 1,929 L.I.G श्रेणी के आवास होंगे।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है प्रधानमंत्री जन औषधि योजना, कैसे कम रेट पर मिलेंगी महंगी दवाई

योजना प्रमुख बातें जिनसे मिलेगा आपको घर

  • योजना के लिए सर्किल एक में 7.02 हेक्टेयर और सर्किल दो में 21.31 हेक्टेयर जमीन रखी गई है।
  • योजना के अंतर्गत बनने वाले मकानों का निर्माण 29.2 करोड़ रुपए के प्रावधान में किया जाएगा।

स्वीकृत अटल आश्रय आवासीय योजनाओं में शामिल

  • दिव्य नगर
  • सीहोर नगर- सोन चिरैया नगर
  • करैरा (जिला शिवपुरी)-अटल परिसर एवं भोज नगर
  • भोपाल- त्रिमूर्ति नगर
  • सुसनेर (जिला आगर) – कौसमी नगर
  • बैतूल – महावीर नगर
  • विदिशा – दुर्गावतीपुरम
  • तेंदूखड़ा (जिला दमोह) –  मां जालपा नगर
  • ब्यावरा (जिला राजगढ) – शिव विहार कालोनी
  • कसरावद (जिला खगोन) – नर्मदा परिसर
  • डिंडोरी – लवकुश नगर
  • मुंगावली (जिला अशोक नगर) – अवंति नगर
  • गुना – सनसिटी
  • सिंगरौली – राजेश्वरी धाम
  • दतिया – रामराजा नगर
  • टीकमगढ़-  सतपुड़ा परिसर एवं मोगली परिसर
  • सिवनी – राज नगर, दमोह एवं बसंत विहार, सतना शामिल है।
इसे भी पढ़े   जानिए क्या है डिजिटल इंडिया, अब हर समाधान होगा इंटरनेट पर

सरकार द्वारा निर्धारित उपलक्ष्य

  • योजना के तहत सस्ती दरों में आवास उपलब्ध किए जाएंगे।
  • योजना के लिए इंदौर, रीवा, उज्जैन, जबलपुर और ग्वालियर के लिए वार्षिक प्रोग्राम जारी किया है।
  • बोर्ड ने पूरे प्रदेश में 11 हजार 506 मकान बनाने का लक्ष्य रखा गया है।
  • आगामी 2018 तक 25 हजार लोगों को मकान उपलब्ध किए जाएंगे।
  • योजना के अंतर्गत उच्च गुणवत्तायुक्त कालोनी, सीवरेज सिस्टम, 6 गार्डन, स्कूल और अस्पताल सहित सर्व सुविधायुक्त कालोनी स्थापित की जाएंगी।

योजना महत्वपूर्ण बिंदु

समिति ने इन योजनाओं में नगर तथा स्थान के आधार पर E.W.S आवासों के मूल्य 5 लाख से 8 लाख रुपए के मध्य एवं L.I.G आवासों के  लिए 11 लाख से 14 लाख रुपए के मध्य निर्धारित किए हैं।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है राष्ट्रीय गोकुल मिशन, पीएम मोदी की इस योजना से रुकेगी गौ हत्या

ये सभी आवासीय परिसर कांक्रीट सड़क, पानी, ड्रेनेज, सीवेज सिस्टम, विद्युत व्यवस्था, पार्क, सुविधाजनक शॉपिंग आदि मूलभूत सुविधाओं से परिपूर्ण होंगे।

अटल आश्रय योजनाओं में बैंक ऋण लेने हितग्राहियों को प्रधानमंत्री आवास योजना 2015 के अंतर्गत क्रेडिट से जुड़ी 6.5 प्रतिशत सब्सिडी का लाभ दिया जाएगा।

नियमानुसार E.W.S आवास की पात्रता 3 लाख रुपए तक की वार्षिक पारिवारिक आय पर एवंL.I.G आवासों की पात्रता 6 लाख रुपए तक की वार्षिक पारिवारिक आय पर उपलब्ध होगी।

आय के प्रमाण के लिए स्व- प्रमाणीकृत आवेदन ही मान्य होंगे।

Click to comment

Most Popular

To Top