मध्य प्रदेश

जानिए क्या है मध्य प्रदेश की युवा स्व रोजगार योजना, युवा ऐसे पा सकते हैं लाखों की मदद

जानिए क्या है मध्य प्रदेश की युवा स्व रोजगार योजना, युवा ऐसे पा सकते हैं लाखों की मदद
जानिए क्या है मध्य प्रदेश की युवा स्व रोजगार योजना, युवा ऐसे पा सकते हैं लाखों की मदद

मुख्यमंत्री युवा स्व-रोजगार योजना युवाओं को स्वयं के उद्योग-व्यवसाय शुरू करने और सूक्ष्म और लघु उद्यमों को विकसित करने के लिए बिना बैंक गारंटी के ऋण उपलब्ध कराने के लिए मध्य प्रदेश राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई है।

ये एक एक वित्तीय सहायता योजना है। इस योजना को 1 अगस्त 2014 को शुरू किया गया। इस योजना के तहत मध्य प्रदेश सरकार मार्जिन मनी सहायता, ब्याज सब्सिडी, ऋण गारंटी और लाभार्थियों को प्रशिक्षण प्रदान करेगा।

क्या है मुख्यमंत्री युवा स्व-रोजगार योजना

What is the Chief Minister’s self-employment plan

इस योजना को 1 अगस्त को मध्य प्रदेश में शरु किया गया है, ये एक वित्तीय सहायता योजना है। इस सरकारी योजना से लोग अपने अपने छोटे व्यवसाय सेटअप(शरू) करने के लिए बैंकों ऋण में सरकार द्वारा सहायता प्राप्त कर सकते है।

इस योजना के तहत सरकार मार्जिन मनी सहायता, ब्याज सब्सिडी, ऋण गारंटी और प्रशिक्षण लाभार्थियों को प्रदान करता है। मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना का मुख्य उद्देश्य मध्य प्रदेश में उद्यमशीलता, बिज़नस, व्यवसाय को बढ़ावा देने है।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है झारखंड सरकार की विधवाओं के लिए भीमराव अंबेडकर योजना, मिलेगा ये फायदा

मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना का उद्देश्य

Objectives of Chief Minister Youth Swa Rojgar Yojana

मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना का उद्देश्य सभी वर्ग के युवाओं को स्वयं का उद्योग, सेवा व्यवसाय स्थापित करने के लिये बैंकों के माध्यम से ऋण उपलब्ध करवाना है। हितग्राहियों को मार्जिन-मनी सहायता तथा ब्याज अनुदान की सुविधा दी जायेगी। योजना में आयु सीमा का कोई बंधन नहीं है।

मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के लिए पात्रता

Eligibility for Chief Minister Yojana Swarozgar Yojana

केवल मध्य प्रदेश के स्थायी निवासी ही इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।


आवेदक को कम से कम 5 वीं कक्षा पारित किया होना चाहिए।


आवेदक की आयु 18-45 वर्षों के मध्य होनी चाहिए।


अनुसूचित-जाति, जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, महिला एवं निःशक्तजन को अधिकतम आयु में 5 वर्ष की छूट रहेगी।


आवेदक किसी राष्ट्रीयकृत या निजी क्षेत्र के बैंकों द्वारा Defaulter घोषित नहीं किया गया होना चाहिए।

आवेदक पहले से किसी राज्य में चलने वाली योजनाओं के तहत सहायता प्राप्त नहीं किया होना चाहिए।


इसे भी पढ़े   जानिए क्या है प्रधानमंत्री जन धन योजना, कैसे पाएं योजना के तहत एक लाख का मुआवजा

ये योजना केवल उद्योग / सेवा कंपनी / व्यवसाय स्थापित करने के लिए उपलब्ध है।

मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के तहत वित्तीय सहायता

Chief Minister Yojana Swarozgar Yojana

वित्तीय सहायता के लिये दो तरह की श्रेणियाँ निर्धारित की गई हैं। एक श्रेणी में 50 हजार रुपये तक की परियोजना में तथा दूसरी श्रेणी में 50 हजार से अधिक और 25लाख तक की परियोजनाओं के लिये सहायता दी जायेगी।

प्रथम श्रेणी में परियोजना लागत पर मार्जिन मनी सहायता 20 प्रतिशत (अधिकतम 10 हजार रुपये) होगी। परियोजना लागत पर ब्याज अनुदान 5 प्रतिशत की दर से 5 वर्ष तक (2000 रुपये अधिकतम प्रतिवर्ष) दिया जायेगा। गारंटी शुल्क एक प्रतिशत की दर से अधिकतम 500 रुपये तथा गारंटी सेवा शुल्क 0.5 प्रतिशत की दर से (4 वर्ष के लिये) अधिकतम 1000 रुपये दी जायेगी।

दूसरी श्रेणी के हितग्राहियों को पूँजीगत लागत तथा कार्यशील पूँजी पर ब्याज अनुदान 5 प्रतिशत की दर से 5 वर्ष तक देय होगा। गारंटी शुल्क 1 से 1.5 प्रतिशत, अधिकतम 37 हजार 500 रुपये दी जायेगी। गारंटी सेवा शुल्क (4 वर्ष के लिये) 0.5 से 0.75 प्रतिशत, अधिकतम 75 हजार रुपये दी जायेगी।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है उत्तर प्रदेश की अक्षमता पेंशन योजना, दुर्घटना के बाद आपको मिलेगी पेंशन

मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना  के लिए आवेदन कैसे करें

How to apply for Chief Minister Yojana Swarozgar Yojana

आवेदन फार्म संबंधित जिला कार्यालय में मुफ्त उपलब्ध हैं।

आवेदन पत्रों की समीक्षा करने के बाद छटनी की जाएगी। आवेदक जिन्होंने अपनी अधूरी जाकारी आवेदन में दी है उन्हें सम्पूर्ण विवरण पूरा करने के लिए बुलाया जाएगा।

आवेदकों को आवश्यक रूप से आवेदन पत्र के साथ प्रस्तावित परियोजना की सामान्य परियोजना रिपोर्ट प्रस्तुत करनी होगी।

इसके बाद आवेदन पत्र को इस योजना के तहत निर्वाचित संबंधित विभाग की चयन समिति के समक्ष प्रस्तुत किया जाएगा।

अयोग्य आवेदन पत्र खारिज कर दिए जाएंगे।

आवेदन की स्वीकृति के बाद 15 दिनों के भीतर ऋण वितरित किया जाएगा।

ऋण वितरण के बाद आवेदकों को सरकार द्वारा अपने उद्योग / व्यापार के विकास के लिए प्रशिक्षण दिया जाएगा।

Click to comment
To Top