ओडिशा

जानिए क्या है ओडिशा में प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, ऐसे मिलेगा योजना का लाभ

जानिए क्या है ओडिशा में प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, ऐसे मिलेगा योजना का लाभ

प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत केंद्र सरकार ने तीन साल में 30 लाख बीपीएल परिवारों को मुफ्त एलपीजी कनेक्शन देने की घोषणा की थी। ओडिशा में भी अब इस योजना का शुभारंभ केंद्रीय जनजातिय मामलों के मंत्री जुआल ओराम द्वारा किया जा रहा है। जिसे मंत्री जी ने एक क्रांतिकारी कदम बताया है। जिसे पूरे राज्य में एक पारदर्शी तरीके से कार्यान्वित किया जाना है।

क्या है प्रधानमंत्री उज्जवला योजना

प्रधानमंत्री उज्जवला योजना की शुरुआत पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा यूपी स्थित बलिया में 1 मई 2016 को की गई थी। योजना के तहत देश में गरीबी रेखा से नीचे जीवन जीने वाले लोगों को LPG कनेक्शन प्रदान किए जाएंगे।

ओडिशा में शुरु हुई प्रधानमंत्री उज्जवला योजना

ओडिशा में प्रधानमंत्री उज्जवला योजना की शुरुआत गरीब परिवारों की महिलाओं के सशक्तिकरण की दिशा के रुप में की गई है। धूम्रपान, व्याकुलता और बीमारी से गरीब महिलाओं को राहत देने के लिए बजट आवंटन किया गया है। यह योजना विशेष रुप से पूर्वी और पूर्वोत्तर राज्यों में महिलाओं के परिवारों को लाभ पहुंचाएगी इसके अलावा ओडिशा, जिसकी राष्ट्रीय औसत से एलपीजी का प्रवेश काफी कम है, उसे भी बेहद लाभ होगा।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है सीएम योगी की दिव्यांग पेंशन योजना, कैसे करें ऑनलाइन आवेदन


ओडिशा में योजना लागू करने का प्रमुख उद्देश्य

भारत में आग की लकड़ी, कोयले, गोबर केक आदि से धुएं से महिलाओं के स्वास्थ्य पर प्रतिकुल प्रभाव पड़ता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट के मुताबिक, महिलाओं द्वारा धूम्रपान करने वालों की संख्या प्रति घंटे 400 सिगरेट के बराबर है। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संकल्प से अब महिलाओं का चूल्हे फूंकना बंद होगा और उन्हें गैस चूल्हा मुफ्त दिया जाएगा। इसी कड़ी में ग्रामीण क्षेत्रों में चूल्हे पर खाना बनाने वाली महिलाओं के जीवन को सुरक्षित करने के लिए प्रधानमंत्री उज्जवला योजना बनाई गई है।

योजना प्रमुख लाभ

केंद्रीय मंत्री ने घोषणा की कि अगले तीन वर्षों में, राज्य में 40 लाख घरों में नए एलपीजी कनेक्शन के कारण लाभ होगा और इनमें से 30 लाख बीपीएल परिवारों के लिए होगा।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है ओडिशा सरकार का त्रित्यप्रकाश सुरक्ष्य अभियान, ट्रांसजेंडर समुदाय को मिलेगा लाभ

इस योजना का कार्यान्वयन गांवों में मेला के आयोजन द्वारा किया जाएगा और लाभार्थियों की पहचान ओडिशा सरकार द्वारा तैयार आंकड़ों के आधार पर की जाएगी।

सभी छह जिलों के 20 लाभार्थियों और अनुगुल के एक उप विभाग को इस योजना के तहत एलपीजी कनेक्शन को गणमान्य लोगों ने सौंप दिया था। इस अवसर पर 870 एलपीजी कनेक्शन के साथ पूरी तरह से उपलब्ध कराए गए थे।

योजना प्रमुख विशेषताएं

योजना के जरिए महिलाओं को सशक्त बनाने के साथ उनके स्वास्थ्य की रक्षा करना है।

जीवाश्म ईंधन पर आधारित खाना पकाने के साधनों से जुड़े गंभीर स्वास्थ्य के खतरों को कम करना है।

जीवाश्म ईंधन से होने वाले वायु प्रदुषण के कारण सांस लेने की वजह से होने वाली बीमारियों से युवा बच्चों को सुरक्षित रखना इस योजना की प्रमुख विशेषता है।

इसे भी पढ़े   मासिक भत्ता योजना बेरोजगारों-गरीबों को देगी 1500 रुपए, जानिए कैसे लें योजना का लाभ

उज्जवला योजना की पात्रता

योजना के तहत केवल BPL परिवार की महिलाएं ही आवेदन कर सकती है।

आवेदक 18 वर्ष की आयु से ऊपर की एक महिला होना अनिवार्य है।

महिला आवेदक बी.पी.एल से संबंधित होनी चाहिए।

महिला आवेदक का देश भर में किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक में बचत बैंक खाता होना चाहिए।

आवेदक के घर में पहले से ही किसी अन्य के नाम पर एक एलपीजी कनेक्शन नहीं होना चाहिए।

उज्जवला योजना के आवेदन हेतु जरुरी दस्तावेज़

योजना के तहत उम्मीदवारों को SECC-2011 के आंकड़े के आधार पर चुना जाएगा। लेकिन सरकार की महत्वपूर्ण मानदंडो के अनुसार आवेदनकर्ता फोर्म भर सकते है।

बी.पी.एल प्रमाण पत्र पंचायत प्रधान/ नगर पालिका अध्यक्ष द्वारा अधिकृत

बी.पी.एल राशन कार्ड

आधार कार्ड या वोटर आईडी कार्ड

एक फोटोग्राफ

Click to comment

Most Popular

To Top