ओडिशा

जानिए क्या है ओडिशा सरकार की कलिंग शिक्षा योजना, ऐसे मिलेगा शिक्षा ऋण योजना


जानिए क्या है ओडिशा सरकार की कलिंग शिक्षा योजना, ऐसे मिलेगा शिक्षा ऋण योजना


कलिंग शिक्षा सती योजना ओडिशा की बहुचर्चित योजनाओं में से एक है। जिसकी शुरुआत राज्य मुख्यमंत्री नवीन पटनायक द्वारा 27 जून 2016 को की गई थी। इस योजना के अंतर्गत छात्रों को उच्च शिक्षा के लिए 1 फीसदी ब्याज दर पर 10 लाख रुपए तक का ऋण उपलब्ध किया जाता है।

क्या है कलिंग शिक्षा सती योजना

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक द्वारा राज्य के उन होनहार छात्रों के लिए योजना तैयार की गई है जो आर्थिक स्थिति के कारण पढ़ाई मध्य में छोड़ देते है। ऐसे योग्य छात्रों के लिए कलिंग शिक्षा सती योजना की शुरूआत की गई है। जिसके अंतर्गत प्रत्येक गरीब छात्र 1%  पर 10 लाख रुपए तक का ऋण ले सकता है।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है मध्य प्रदेश में शाला सिद्धि प्रोत्साहन योजना, विद्यार्थियों को मिलेगी अच्छी शिक्षा

कलिंग शिक्षा सती योजना का उद्देश्य

इस योजना का उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि गरीब परिवारों के मेधावी छात्र उच्च शिक्षा में दाखिला कैसे ले साथ ही पारिवारिक आर्थिक स्थितियों से कैसे निपटे। अक्सर छात्र पैसो की कमी के कारण उच्च शिक्षा में दाखिला नहीं ले पाते वहीं कलिंग शिक्षा सती योजना के जरिए ऐसे छात्रों को वित्तीय सहयोग दिया जाएगा। ताकि इनके बेहतर भविष्य को सुरक्षित किया जा सके।

योजना से मिलने वाले लाभ

इस योजना से राज्य भर में गरीब परिवारों पर शिक्षा ऋण और वित्तीय तनाव का बोझ कम होगा।

लॉन्च के अगले दिन, छात्रों ने मुख्यमंत्री निवास पर जाकर मुख्यमंत्री जी को धन्यवाद दिया।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है केजरीवाल सरकार की लाडली योजना, बच्चियों को मिलेंगे 10 हजार रुपये

राज्य सरकार ने 500 करोंड़ रुपए का बजट इस योजना पर खर्च करने का निर्णय लिया है।

राज्य सरकार ने इस योजना को पूर्व मुख्यमंत्री बीजू पटनायक को अपनी जन्म शताब्दी में समर्पित की है।

योजना महत्वपूर्ण बातें

यह योजना ख़ासतौर से प्रबंधन, कानून, इंजीनियरिंग और चिकित्सा में उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाले छात्रों के लिए शुरु की गई है।

योजना पर लगभग 500 करोड़ रुपए बजट आकलन तय किया गया है जिसमें से कुछ राज्य सरकार स्वयं अपने स्रोतों से देगी।

ऋण प्राप्त करने के कुछ मानदंडो का अभ्यार्थी/छात्र को पालन करना होगा अगर वह उन मानदंडो को पूरा कर लेता है तो वह राज्य सरकार की इस योजना का लाभार्थी बनने योग्य माना जा सकता है।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है मध्यप्रदेश सरकार की अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति मुख्यमंत्री विदुषी योजना

योजना के लिए अभ्यार्थी/ छात्र की पारिवारिक आय प्रतिवर्ष 4.5 लाख रुपए से कम होना चाहिए।

बीजू पटनायक ने विज्ञान को बढ़ावा देने के लिए कलिंग यूनेस्कों पुरस्कार स्थापित किया है।

योजना प्रमुख शर्ते

विद्यार्थी का ओडिशा निवासी होना अनिवार्य है।


विद्यार्थी के पिता/पालक की वार्षिक आय 4.5 लाख रुपए से अधिक नहीं होनी चाहिए।


योजना हेतु जरुरी दस्तावेज़

10वीं कक्षा मार्कशीट

12वीं कक्षा मार्कशीट

आधार कार्ड

आवासीय प्रमाण पत्र

आय प्रमाण पत्र

कॉलेज/ विश्वविद्यालय से प्रवेश प्रमाण पत्र

Click to comment

Most Popular

To Top