छत्तीसगढ़

जानिए क्या है छत्तीसगढ़ सरकार की सरस्वती साइकिल योजना, लड़कियों को मिलेगी साइकिल

जानिए क्या है छत्तीसगढ़ सरकार की सरस्वती साइकिल योजना, लड़कियों को मिलेगी साइकिल

छत्तीसगढ़ सरस्वती साइकिल योजना यह योजना छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा शुरू की गयी है। छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य में लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए इस योजना का गठन किया है। इस योजना के तहत सरकार सभी अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और गरीबी रेखा से नीचे की लड़कियों को जिनोने 9 वीं कक्षा में दाखिला लिया है। ऐसी सभी लडकियों को साइकिल वितरित की जाती है।

सरस्वती साइकिल योजना यह सुनिच्छित करता है की लड़की प्राथमिक स्तर से अपनी शिक्षा जारी रखने, लड़कियों के नामांकन को बढ़ावा देने और माध्यमिक और वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल स्तर पर 14-18 की आयु वर्ग में बालिकाओं के स्कूल छोड़ना कम करना है।

इस विशेष वर्ष में छत्तीसगढ़ सरकार ने स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले लड़कियों के लिए 1.5 लाख साइकिल्स वितरित करने का निर्णय लिया है। सरकार ने छत्तीसगढ़ राज्य में लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए वर्ष 2004-05 में सरस्वती साइकिल योजना शुरू कर दी है।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है योगी सरकार की फसल ऋण मोचन योजना, ऐसे करें ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

क्या है सरस्वती साइकिल योजना

राज्य सरकार ने सरकारी स्कूलों की छात्राओ के लिए मुफ्त में साइकिल प्रदान करने की घोषणा की है। इस योजना का नाम सरस्वती साइकिल योजना है। इस योजना के अनुसार सरकारी स्कूलों में पढ़ रही लड़कियों को मुक्त 13000 साइकिल दी जाएगी। अभी तक इस योजना में 6500 लड़कियों का पंजीकरण हो चूका है। अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के परिवारों और बीपीएल परिवारों वे इस योजना का लाभ उठा सकते है।

सरस्वती साइकिल योजना का उद्देश्य

इस योजना से लड़कियों के उच्च शिक्षा के बारे में माता-पिता को प्रोत्साहित करने में मदद मिलेगी।

इसके अलावा कक्षा में उपस्थिति बढ़ाने के लिए भी प्रोत्साहित होंगे।

सरस्वती साइकिल योजना छत्तीसगढ़ भी स्कूलों के लिए घर से दूरी कम करने के लिए उपयोगी हो जाएगा।

शिक्षा के क्षेत्र में लड़कियों के नामांकन को बढ़ावा देने एवं माध्यमिक और वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल स्तर पर लड़कियों को 14-18 वर्ष की आयु समूह में छोड़ने वालों का अनुपात को कम करना।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है छत्तीसगढ़ सरकार की युवा सूचना क्रांति योजना, मिलेगा ये फायदा

सरस्वती साइकिल योजना के लाभ

सभी बीपीएल, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति वर्ग के लड़कियों के लिए लाभ।


लड़कियों के बीच शिक्षा को बढ़ावा देने और स्कूल छोड़ने वालों का अनुपात को कम करना।


सरस्वती साइकिल योजना के लिए पात्रता

आवेदक छत्तीसगढ़ राज्य का निवासी होना चाहिए।


लड़कियों  को  9 वीं कक्षा में दाखिला लिया जाना चाहिए।


लड़कि अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और गरीबी रेखा से नीचे (बीपीएल) के अंतर्गत आनी चाहिए।


सरस्वती साइकिल योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

पहचान पत्र जैसे आधार कार्ड


जाति प्रमाण पत्र


विद्यालय प्रमाणपत्र


पासपोर्ट आकार के फोटो


बीपीएल कार्ड की कोपी


सरस्वती साइकिल योजना के लिए कैसे आवेदन करें

आवेदक संबंधित स्कूल या संस्थाओं के हेड मास्टर से संपर्क कर सकते है।


आवेदक जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) से संपर्क कर सकते।


सरस्वती साइकिल योजना की महत्वपूर्ण जानकारी


लड़कियों की संख्या इस योजना के तहत 13,000 है


इसे भी पढ़े   जानिए क्या है राष्ट्रीय शिक्षुता संवर्धन योजना, युवाओं को मिलेगा रोजगार का अवसर

इस योजना के तहत लड़कियों को फ्री में साइकिल पाने के लिए 8 वीं पास होना चाहिए


इस योजना के लिए पंजीकृत छात्राओं की संख्या जांजगीर-चंपा जिले में 7500 है।

इस योजना के तहत राज्य की डीईओ (जिला शिक्षा अधिकारी) छात्राओं को फ्री में साइकिल प्रदान करने के लिए जिम्मेदार हैं।
अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति और बीपीएल (गरीबी रेखा से नीचे) परिवारों की लड़कियों को ही इस योजना के तहत फ्री में साइकिल मिलेगी।

लड़कियों को कम से कम बारहवीं तक शिक्षा दी जा सके इसके लिए छत्तीसगढ़ सरकार ने अनुसूचित जाती और अनुसूचित जनजाती की लड़कियों को जो नौवीं कक्षा में हैं या जो अठारह साल से ऊपर की हैं। उनको फ्री में साइकिल प्रदान कर रही है। BPL परिवारों की लड़कियां भी मुफ्त में साइकिल प्राप्त कर सकती हैं हर साल इस योजना से लड़कियों को लाभ प्राप्त होगा।

Click to comment

Most Popular

To Top