महाराष्ट्र

जानिए क्या है महाराष्ट्र सरकार की उन्नत खेती योजना, किसानों को मिलेगा ये लाभ

जानिए क्या है महाराष्ट्र सरकार की उन्नत खेती योजना, किसानों को मिलेगा ये लाभ

महाराष्ट्र सरकार की नयी योजना ‘उन्नत खेती – समृद्ध किसान’ को लागू करने का उद्देश्य, प्रदेश सरकार का यही रहा कि कृषि उत्पादन को बढ़ावा दिया जा सके। इसके साथ ही किसान स्वयं के लिए इस योजना के जरिए लाभ सुनिश्चित करने में भी कामियाब रहे। बता दें हाल ही में राज्य मुख्यमंत्री फडणीस के अधीन कई सफल योजनाओं का विस्तार किया जा रहा है और उन्नत खेती समृद्ध किसान योजना भी इन्हीं योजनाओं में से एक है।

एक सरकारी संकल्प के अनुसार उन्नत खेती – समृद्ध किसान योजना के तहत तहसील को फसलों के लिए उत्पादन लक्ष्य दिया जाएगा। लक्ष्य को ध्यान में रखने की योजना बनाई जाएगी ताकि किसान अपने उत्पाद बेचने के बाद उनके द्वारा ऋण से अधिक धन प्राप्त करने में सक्षम हो।

महाराष्ट्र की उन्नत खेती समृद्ध किसान की योजना

महाराष्ट्र सरकार की महत्वाकांक्षी ‘उन्नत खेती – समृद्ध किसान’ योजना  की संकल्पना वर्ष 2017-18 में शुरु करने की जानकारी शासन द्वारा दी गई थी जिसकी शुरुआत गोरेगांव तहसील से की गई है। महाराष्ट्र राज्य सरकार ने राज्य के किसानों के लिए एक नई उन्नत खेती- समृद्ध किसान योजना का शुभारंभ किया गया है।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है झारखंड सरकार की बाल गरीब समृद्धि योजना, मिलेगा ये लाभ

जिसे किसानों की आय में वृद्धि करने का लक्ष्य कहा गया है। इस योजना का अंतिम लक्ष्य राज्य में किसानों की आय को दोगुना बनाना है जिससे प्रत्येक किसान फसलों के उत्पादन में वृद्धि करके और उत्पादन की लागत में कटौती करके अपनी आय को दोगुना कर सके।
क्यों की जा रही इस योजना की शुरुआत

दरअसल राज्य के किसान सरकार को उन ऋणों को छोड़ने के लिए बाध्य करना चाहते हैं जिन्हें उन्होंने ले लिया है। लेकिन इसकी जगह सरकार इस योजना के साथ किसानों की आय को दोगुना करने की योजना बना रही है। जिससे किसान आसानी से अपने ऋण का भुगतान कर पाएंगे। इस योजना की घोषणा राज्य के वित्तीय बजट 2017-18 में की गई थी।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है मध्य प्रदेश की सोलर पंप योजना, सीएम शिवराज मुफ्त में देंगे पंप

उन्नत खेती योजना जरूरी बातें

योजना के तहत जो किसान पहले ही सत्र की शुरुआत में उधार से अधिक कमाई कर रहे है उन्हें अपने वर्तमान उत्पादन की तुलना में 20 प्रतिशत अधिक उत्पादन बढ़ाने का लक्ष्य है।
योजना के तहत सरकार कृषि के लिए निर्धारित धनराशि में से 60 फीसदी धन ट्रैक्टर, पॉवर टिलर, चमकाने की मशीन, ग्रेडिंग और पैकिंग पर खर्च करेगी।

किसानों को अपने आधार से जुड़े बैंक खातों के माध्यम से मशीनरी की खरीद के लिए अनुदान या सब्सिडी प्राप्त होगी।


सरकार ग्रीन हाउस के निर्माण, प्याज भंडारण शेड आदि के लिए अनुदाव या सब्सिडी में वृद्धि करेगी।


ट्रैक्टरों से खेती के मशीनीकरण, पोलिश के लिए मशीनें, ग्रेडिंग और उत्पादन के पैकिंग, पावर टिलर और ट्रांसप्लांटर्स को 60 फीसदी से अधिक

धन मिलेगा जो सीधे आधार से जुड़े किसान के बैंक खाते में स्थानांतरित किया जाएगा।


इसे भी पढ़े   जानिए क्या है नमामि गंगा योजना, जिसके लिए मोदी सरकार ने जारी किए 2 हजार करोड़

योजना महत्वपूर्ण फायदें जिनसे आपको मिलेगा लाभ


इस योजना के तहत राज्य सरकार राज्य के प्रत्येक तहसील को एक इकाई के रुप में घोषित करेगी।


जिसका उपयोग कृषि विकास पर योजना के लिए किया जाएगा।


मुख्य कार्य जो योजना के तहत होंगे संभव

  • राज्य में प्रमुख फसलों के उत्पादन में वृद्धि
  • फसलों के विविधीकरण
  • विपणन तकनीकों के बारे में जागरुक बनाना
  • कृषि उत्पादत कंपनियों के माध्यम से किसानों के बीच एक इकाई का निर्माण
  • किसान को वित्तीय स्थिर पर प्रर्बल बनाना

योजना के तहत बनाया गया लक्ष्य

राज्य सरकार द्वारा 25 मई से 8 जून 2017 के बीच योजना के तहत ‘किसान आउटरीच अभियान’ नामक एक अभियान चलाया जाएगा। जिसकी सहायता से किसानों को नवीनतम तकनीकों की जानकारी दी जाएगी। यह अभियान खरीफ सीजन के दौरान उत्पादकता और दक्षता बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

अधिक जानकारी के लिए पर जाएं https://www.maharashtra

Click to comment

Most Popular

To Top