मध्य प्रदेश

जानिए क्या है मध्य प्रदेश सरकार की समर्थ संगनी योजना, रुकेगा महिलाओं पर अत्याचार

जानिए क्या है मध्य प्रदेश सरकार की समर्थ संगनी योजना रुकेगा महिलाओं पर अत्याचार
जानिए क्या है मध्य प्रदेश सरकार की समर्थ संगनी योजना, रुकेगा महिलाओं पर अत्याचार

महिलाओं और बालिकाओं पर होने वाले अपराधों में कमी लाने के लिए मध्य प्रदेश पुलिस ने “समर्थ संगिनी योजना” शुरू की है। इसे पहले नवाचार के रूप में बैतूल जिले में शुरू किया गया था।

बैतूल जिले में मिले अच्छे परिणामों के अच्छे होने की खबर है। जिसके के बाद अब इस योजना को पूरे राज्य में लागू करने का फैसला लिया गया है। पुलिस महानिदेशक  ने इस संबंध में सभी पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिया है।

राज्य पुलिस विभाग महिलाओं की सुरक्षा के लिए राज्य भर में इस योजना को लागू कर रहा है। राज्य सरकार आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं, सहायकों, गैर सरकारी संगठनों और परामर्श एजेंसियों के सदस्यों को एक नेटवर्क के रूप में संयोजित कर महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराध की जांच करेगी। इस योजना के तहत अपराध के बारे में पुलिस को सूचित करने के लिए महिलाओं को प्रेरित किया जायेगा।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है उत्तर प्रदेश सरकार की बुजुर्ग मरीजों के घर जाकर डॉक्टर करेंगे इलाज योजना

क्या है समर्थ संगनी योजना

What is a capable marriage plan

राज्य में महिलाओं की सुरक्षा की जाँच करने के उद्देश्य से पुलिस विभाग ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक को नोडल अधिकारी (Nodal Officer) का पद आवंटित किया है। इस योजना के तहत सभी महिलाओं को छेड़छाड़, बलात्कार और घरेलू हिंसा की घटनाओं सहित उनके साथ हुए अपराध के खिलाफ रिपोर्ट करने की अनुमति होगी जिसे वे अक्सर दरकिनार करती हैं।

योजना का उद्देश्य

Purpose of plan

महिलाओं और बालिकाओं से सम्बंधित अपराधों में कमी लाना।

स्थानीय झगड़ों एवं विवादों की जानकारी प्राप्त करना।


जनता में सौहाद्रपूर्ण वातावरण का निर्माण करना।


सुरक्षित वातावरण का निर्माण करना।


इसे भी पढ़े   जानिए क्या है दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्य विकास योजना, कैसे उठाएं इसका लाभ

अपराध एवं अपराधियों की सूचना एकत्रित करना।


जनता में पुलिस के प्रति विश्वास बढ़ाना।

महिलाओं को उनके अधिकारों एवं कर्तव्यों के प्रति जागरूक करना। 

महिलाओं के लिए बड़ी पहल

Big initiative for women

योजना को पहले से ही राज्य के बैतूल जिले में चलाया जा रहा है और वहां यह उत्कृष्ट पहल साबित हुई है। उसके बाद ही पुलिस विभाग ने राज्य के सभी जिलों में इस योजना का विस्तार करने का फैसला किया है। “समर्थ संगिनी योजना” को 4 महीने पहले बैतूल जिले में शुरू किया गया था।

इन 4 महीनों के दौरान महिलाओं के खिलाफ अपराध के ग्राफ में तेजी से गिरावट आई है। इस योजना के माध्यम से, पुलिस विभाग को महिलाओं के साथ हुए अपराधों के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी मिल जाएगी। जिससे राज्य में इस तरह की घटनाओं को कम करने में मदद मिलेगी।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है भीम ऐप, जिसे पीएम मोदी ने भी किया इस्तेमाल

योजना में पुलिस विभाग की गतिविधियां

Activities of the Police Department in the scheme

इस योजना में आशा, ऊषा, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका सहित ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाओं को एक नेटवर्क के रूप में संयोजित किया गया। जो स्थानीय स्तर पर होने वाली घटनाओं की सूचना पुलिस तक पहुंचाएंगी।

इस योजना के तहत हर माह थाना प्रभारी आशा, ऊषा, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं से संपर्क करेंगे। उनसे मीटिंग करके काउन्सलिंग की जाएगी। इससे पुलिस सीधे गांव और मोहल्ले की महिलाओं से जुड़ सकती है। महिलाओं में भी सुरक्षा की भावना जाग्रत होगी।

Click to comment
To Top