मध्य प्रदेश

जानिए क्या है मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना, अब किसान नहीं करेंगे आत्महत्या

जानिए क्या है मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना, अब किसान नहीं करेंगे आत्महत्या
जानिए क्या है मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना, अब किसान नहीं करेंगे आत्महत्या

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में कई बड़ी योजनाओं का विस्तार किया गया है। जिन योजनाओं में एक ऐसी भी योजना है जो किसानों के लिए बेहद जरूरी मानी जा रही है। जिसका नाम सरकार ने ‘मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना’ रखा है।

जिसकी घोषणा सरकार द्वारा इस उद्देश्य से की गई है। ताकि प्रदेश के प्रत्येक किसान को प्रेरित किया जा सके। जिससे वो आत्महत्या जैसे अविश्वसनीय अपराध करने पर मजबूर न हो।

क्या है मुख्यमंत्री भावांतर योजना

What is the chief minister’s plan

मुख्यमंत्री भावांतर योजना के तहत फसल गिरदावरी मोबाइल एप के माध्यम से प्राप्त संपूर्ण डाटा एकत्रित किया जाएगा। जिसके लिए रेवन्यू केसेस मॉनीटरिंग सिस्टम अगले तीन महीने में सभी अविवादित नामांतरण, बंटवारे और सीमांकन प्रकरण निराकृत हो जाएंगे। इससे प्राप्त जानकारी को सभी किसानों के बीच साझा की जाएगी।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है योगी सरकार की महिला सशक्तिकरण मिशन

योजना का उद्देश्य

Purpose of plan

मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना का प्रमुख उद्देश्य किसानों को प्रेरित करना है। राज्य कि नई योजना के तहत किसानों को उनके उत्पाद का लाभकारी मूल्य मिलना सुनिश्चित किया जाएगा।

·       योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करना है और आने वाले समय में आत्महत्या की दर में कमी करना है।

·       विवादों के कई मामलों के लिए किसानों को सहायता प्रदान करना और सुनिश्चित करना कि सभी मामलों को पहले रिपोर्टिंग के 90 दिनों के भीतर संबोधित किया जाना चाहिए।

·       योजना प्रमुख लक्ष्य है कि किसानों को अपने खेतों में कुछ दालों, तिलहन और बागवानी फसलों का उत्पादन करने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है शिशु हितलाभ योजना, आपके शिशु को सरकार देगी 12 हजार रुपये

योजना प्रमुख तत्व

Key elements of planning

·       योजना की घोषणा राज्य मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आकाशवाणी से प्रसारित कार्यक्रम‘दिल से’ में किसानों के साथ सीधी बात कर की थी।

·       योजना के तहत जल्द ही ऐसी व्यवस्था की जाएगी जिसमें प्रति वर्ष खसरा की नकल की प्रतिलिपि नि:शुल्क किसानों को उपलब्ध कराई जाए।

·       योजना के तहत किसान को बताया जाएगा की वह कौन सी फसल कितने रकबे में बोए।

·       औसत उत्पादन की गणना कर समर्थन मूल्य और विक्रय मूल्य के अंतर की राशि को सीधे किसानों के खातों में डालने की व्यवस्था होगी।

·       फसल गिरजावरी मोबाइल ऐप किसानों और उनके उत्पादन के बारे में एकत्रित की जाएगी।

·       फसल की लाभकारी कीमतों का सुझाव मध्य प्रदेश कृषि उत्पाद लागत और विपणन आयोग द्वारा तय किया जाएगा।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है राष्ट्रीय बाल स्वच्छता अभियान, महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने योजना की शुरू

·       यह योजना सुनिश्चित करेगी कि विस्पाथन,जमीन की सीमा और उत्परिवर्तन से संबंधित मामलों को तीन महीने के भीतर संबोधित किया जाएगा।

योजना के बड़े फायदे

Big benefits of the plan

·       योजना के तहत मिलने वाली समर्थन मूल्य और बिक्री की कीमत के बीच अंतर सीधे राज्य सरकार द्वारा किसानों के बैंक खातों में जमा किया जाएगा।

·       योजना के अंतर्गत अगर किसान दावा करते है तो तीन महीने के बाद उनका मामला अविवादित होने के बाद भी लंबित होगा। सरकार उस किसान को सम्मानित करेगी और संबंधित कर्मचारी से इनाम के खिलाफ दंडात्मक कार्यवाई भी की जाएगी।

·       ये योजना सुनिश्चित करेगी कि किसानों को उनके उत्पाद के लाभकारी मूल्य मिले।

Click to comment
To Top