मध्य प्रदेश

जानिए क्या है मध्य प्रदेश सरकार की गरीबों के लिए अन्नपूर्णा योजना, ऐसे मिलेगा लाभ


जानिए क्या है मध्य प्रदेश सरकार की गरीबों के लिए अन्नपूर्णा योजना, ऐसे मिलेगा लाभ


अन्नपूर्णा योजना, गरीबों को किफायती दरों पर पौष्टिक आहार उपलब्ध कराने के लिए मध्य प्रदेश की राज्य सरकार द्वारा शुरु की गई ख़ास योजनाओं में से एक है। ये योजना तमिलनाडु की अम्मा कैंटीन योजना से प्रेरित है और इसे लागू करने का मकसद भी केवल गरीबों को किसी न किसी रुप में सहायता प्रदान करना है। अब यह सहायता वित्तीय हो यो फिर कम कीमत पर खाद्य सुविधा उपलब्ध कराना,,

क्या है अन्नपूर्णा योजना

अन्नपूर्णा योजना गरीब परिवारों को सस्ता अनाज उपलब्ध कराने और उपभोक्ता को जागरुक करने के उद्देश्य से प्रदेश की राजधानी भोपाल में सबसे पहले आयोजित की गई थी। इसे भी शिवराज सरकार के अधीन शुरु किया गया था, जिसका शुभारंभ स्वयं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा राजधानी में किया गया।

योजना प्रमुख उद्देश्य

योजना के जरिए गरीब परिवारों को सस्ते मूल्य में अनाज उपलब्ध किया जाएगा। जिसकी वजह से अब प्रत्येक गरीब कम पैसो में पेटभर खाना खाने का अधिकारी होगा। योजना के अंतर्गत गरीबी रेखा से नीचे आने वाले यानि की बी.पी.एल समुह के परिवारों को गेहूं 3 रुपए प्रति किलोग्राम की दर से और चावल 4.5 रुपए प्रति किलोग्राम की दर से उपलब्ध किया जाएगा।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है हरियाणा की अन्नपूर्णा रसोई योजना, 10 रुपये में मिलेगी भर पेट खाना

अन्नपूर्णा योजना पात्र

·       गरीबी रेखा के नीचे जीवनयापन करने वाले अर्थात बी.पी.एल कार्डधारी

·       मज़दूर कार्डधारी/ मज़दूर डायरी

·       विधवा/ निशक्त/ वृद्धावस्था पेंशनधारी

·       अनाथाश्रम

·       निराश्रित एवं विकलांग छात्रावासी

·       भूमिहीन एवं खेतिहीन मज़दूर

·       वनाधिकारी पट्टेधारी

·       साइकिल रिक्शा चालक पंजीकृत व्यक्ति

·       हाथठेला चालक पंजीकृत व्यक्ति

·       घरेलु कामकाजी महिला

·       फेरीवाले

·       रेलवे कुली

·       मंडी में हम्माल एवं तुलावटी

·       बंद मिलो के मज़दूर जिनका भुगतान शेष है

·       पंजीकृत बीड़ी श्रमिक

·       भूमिहीन कोटवार

·       पंजीकृत बुनकर एवं शिल्पी

·       पंजीकृ केश शिल्पी

·       बहुविकलांग एवं मंदबुद्धि

·       एड्स पीड़ित

·       अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जाति के परिवार

योजना के तहत मिलने वाला लाभ

गेहूं- योजना के तहत जो अतिगरीब परिवार की श्रेणी में आते है उन्हें 30 किलो प्रति परिवार गेहूं दिया जाएगा। जबकि बी.पी.एल और गैर बी.पी.एल परिवारों को 4 किलो प्रति सदस्य गेहूं दिया जाएगा।

चावल- योजना के तहत जो अतिगरीब परिवार की श्रेणी में आते है उन्हें 5 किलो प्रति परिवार गेहूं उपलब्ध होगा। जबकि बी.पी.एल और गैर बी.पी.एल परिवारों को 1 किलो प्रति सदस्य चावल दिया जाएगा।

चीनी- योजना के तहत जो अतिगरीब परिवार की श्रेणी में आते है उन्हें 1 किलो प्रति परिवार चीनी उपलब्ध होगी। इसी तरह बी.पी.एल और गैर बी.पी.एल सदस्य को भी 1 किलो प्रति परिवार चीनी मिलेगी।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है छत्तीसगढ़ सरकार की मुख्यमंत्री बाल मधुमेह सुरक्षा योजना

केरोसिन- योजना के तहत जो अतिगरीब परिवार की श्रेणी में आते है उन्हें 5 लीटर प्रति परिवार केरोसिन उपलब्ध होगी। इसी तरह बी.पी.एल और गैर बी.पी.एल सदस्य को भी 4 लीटर प्रति परिवार केरोसिन मिलेगी।

नमक- योजना के तहत जो अतिगरीब परिवार की श्रेणी में आते है उन्हें 1 किलो प्रति परिवार नमक उपलब्ध होगा। इसी तरह बी.पी.एल और गैर बी.पी.एल सदस्य को भी 1 किलो प्रति परिवार नमक दिया जाएगा।

अन्नपूर्णा योजना प्रमुख बिंदु

·       रसोई केंद्रो के लिए गेहूं एवं चावल एक रुपए प्रति किलो की दर से उचित मूल्य की दुकान के माध्यम से उपलब्ध किए जाएंगे।

·       पानी तथा बिजली की व्यवस्था नगर निगम द्वारा मुफ्त की जाएगी।

·       मुख्यमंत्री शहरी अधोसंरचना योजना से राशि उपलब्ध की जाएगी।

·       प्रत्येक केंद्र के लिए स्थानीय मुख्यालय के राष्ट्रीयकृत बैंक में खाता खोला जाएगा।

अन्नपूर्णा योजना प्रमुख विशेषताएं

·       बीजेपी वरिष्ठ नेता वेंकैया नायडू ने बढ़ती कीमतों से परेशान गरीब परिवारों के लिए अन्नपूर्णा योजना को एक वरदान के रुप में प्रदर्शित किया है।
·       अन्नपूर्णा योजना गरीबों को भूख और बढ़ती महंगाई से बाहर निकालने के लिए कारगार सिद्ध होगी।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है भीम ऐप, जिसे पीएम मोदी ने भी किया इस्तेमाल

·       ये केंद्र सरकार द्वारा पर्याप्त खाद्यान्न उपलब्ध न करा पाने की वजह से राज्य सरकार द्वारा बड़ी मात्रा में गेहूं की खरीद के अंतर्गत शुरु की गई है।
·       अन्नपूर्णा योजना के लिए 160 करोड़ रुपए का प्रावधान नियोजित किया गया है।

·       योजना के तहत 213 करोड़ रुपए के वार्षिक व्यय का अनुमान लगाया गया है।

·       किसान विरोधी गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए सख्त कदम उठाए जाएंगे जिसके लिए राज्य मुख्यमंत्री स्वयं मंडियों का आकस्मिक निरीक्षण करेंगे

अन्नपूर्णा योजना लाभ

·       देश में गरीबों के लिए सस्ते भोजन की संभवता में इज़ाफा होना तय है।

·       मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना के तहत 74 लाख परिवारों को फायदा पहुंचेगा।

·       इन प्रयासों से किसानों को उनकी उपज के लाभकारी रिर्टन सुनिश्चित करने में सहायता मिलेगी।

अन्नपूर्णा योजना की जानकारी के लिए..

हाल ही में मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दीनदयाल अंत्योदय रसोई योजना की शुरुआत की थी। जिसके तहत प्रत्येक गरीब मज़दूर को मात्र 5 रुपए में भरपेट खाना उपलब्ध किया जाएगा। वहीं एक और चर्चित योजना ने गरीब वर्ग के लिए राहत का काम किया है।

Click to comment

Most Popular

To Top