झारखंड

जानिए क्या झारखंड सरकार की उद्यमी सखी मंडल योजना, मिलेगा ये लाभ

जानिए क्या झारखंड सरकार की उद्यमी सखी मंडल योजना, मिलेगा ये लाभ

झारखंड सरकार राज्य की ग्रामीण महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए उद्यमी सखी मंडल योजना के रूप में एक नई योजना को राज्य में शुरू करने की योजना बना रही है। महिलाओं के लिए इस नई योजना की घोषणा मुख्यमंत्री रघुबीर दास ने जमशेदपुर में 43वें राजिम लोचन महोत्सव के दौरान आयोजित सभा को संबोधित करते हुए की थी।

ये योजना ग्रामीण महिलाओं को उनके छोटे व्यवसाय को शुरू करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करके उन्हें सशक्त बनाएगी। इस योजना के तहत 15 महिलाओं का समूह एक छोड़ा उद्योग स्थापित कर सकता है। जो उनकी वार्षिक आय में वृद्धि करेगा और उन्हें आर्थिक रूप से मजबूत बनाएगा।

क्या है उद्यमी सखी मंडल योजना

ग्रामीण महिलाओं को सशक्त बनाने और उन्हें व्यापार के लिए प्रोत्साहित करने के लिए झारखंड की राज्य सरकार ने राज्य में महिलाओं के लिए उदयमी सखी मंडल योजना की घोषणा शुरू की है। इस योजना में महिलाओं को वित्तीय सहायता प्रदान करने की घोषणा की गई है जो राज्य में अपना छोटा व्यवसाय शुरू करने में रुचि रखती हैं। झारखंड राज्य के ग्रामीण इलाकों में रहने वाली महिलाओं को इस योजना के तहत लाभ मिल सकता है।

उद्यमी सखी मंडल योजना का उद्देश्य

सरकार का उद्देश्य महिलाओं की वित्तीय स्थिति उनके व्यापार को स्थापित करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करके मजबूत करना है। असल में इस योजना में 15महिलाओं का एक समूह अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए वित्तीय सहायता के लिए आवेदन कर सकता है। महिला आबादी विश्व की आबादी का लगभग 50% हिस्सा है दुनिया भर में बड़ी संख्या में महिलाएं बेरोजगार हैं।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है गुजरात की श्रवण तीर्थ दर्शन योजना, अब सरकार उठाएगी आपके तीर्थ का खर्च

कार्यस्थलों में महिलाओं के लिए असमान अवसरों की वजह से दुनिया की अर्थव्यवस्था का बहुत नुकसान हुआ है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य स्व-मूल्य, सम्मान और गरिमा की भावना के साथ स्वतंत्र रूप से अपना जीवन जीने के लिए और सामाजिक एवं आर्थिक न्याय के लिए समान अधिकार प्रदान करना है।

उद्यमी सखी मंडल योजना का लाभ

सरकार उन महिलाओं को वित्तीय सहायता प्रदान करती है जो राज्य में अपने छोटे व्यवसाय को शुरू करने में रुचि रखती हैं।

15 महिलाओं का समूह अपने व्यवसाय को शुरू करने के लिए वित्तीय सहायता के लिए आवेदन कर सकता है।

महिला सशक्तिकरण का मुख्य लाभ यह है कि समाज का एक समग्र विकास होगा। महिलाओं द्वारा कमाया गया धन ही न केवल उनकी ज़िंदगी

आसान या उनके परिवार के विकास में मदद करता है, बल्कि यह समाज को विकसित करने में भी मदद करता है।

सरकार उन परिवारों को वित्तीय सहायता भी प्रदान करेगी जो अपने बच्चों को पैसे की कमी के कारण पढ़ाने में सक्षम नहीं है।

यह योजना ग्रामीण महिलाओं की वार्षिक आय में वृद्धि करने में मदद करती है।

इसे भी पढ़े   छत्तीसगढ़ सरकार ने शुरू की प्रधानमंत्री आवास योजना, घर के लिए ऐसे मिलेगा पैसा

उद्यमी सखी मंडल योजना के लिए पात्रता

  • आवेदक झारखंड राज्य का निवासी होना चाहिए।

  • ग्रामीण क्षेत्र से संबंधित 15 महिलाओं का एक समूह उद्यमी सखी मंडल योजना के तहत वित्तीय सहायता के योग्य है।

  • इस योजना के तहत गरीब महिलाओं को वित्तीय सहायता के लिए प्राथमिकता मिल सकती है।

  • उद्यमी सखी मंडल योजना के लिए आवेदन कैसे करें

  • उदयमी सखी मंडल योजना झारखण्ड के मुख्यमंत्री रघुबार दास ने एक नई योजना की घोषणा की गई है।

  • आवेदन प्रक्रिया के बारे में विवरण जल्द ही उपलब्ध होगा।


झारखंड राज्य में महिला सशक्तिकरण

इस योजना से, राज्य में महिला सशक्तिकरण बढ़ेगा और इससे सरकार के देश भर में लिंग समानता (gender equality) को बढ़ावा देने के लक्ष्य को भी मजबूती मिलेगी। भारत की केंद्र और राज्य सरकारें दोनों ही इस तथ्य को अच्छी तरह से जानती हैं कि देश के विकास में महिलाओं की भूमिका कितनी अनिवार्य है। इस तथ्य को ध्यान में रखते हुए इस तरह की कल्याणकारी योजनाएं पूरे देश में पेश की जा रही हैं।

झारखंड एक इस राज्य है जहाँ देश के अन्य राज्यों की तुलना में ग्रामीण क्षेत्रों की संख्या अधिक है। शहरी क्षेत्रों के मुकाबले अधिक ग्रामीण क्षेत्रों वाले लोगों के लिए राज्य सरकार द्वारा हाल के दिनों में कई कल्याणकारी योजनाएं शुरू की जा रही हैं। खासकर महिला सशक्तिकरण (women empowerment) क्षेत्र में। लिंग समानता (gender equality) के बारे में जागरुकता पैदा करने और महिलाओं को समान अधिकार प्रदान करने के लिए राज्य सरकार ने पूरे राज्य में कई जागरूकता अभियान और नीतियां संचालित की हैं।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है ओडिशा सरकार की लाखों युवाओं के लिए कौशल प्रशिक्षण योजना

उद्यमी सखी मंडल योजना के मुख्य बिंदु

इस योजना के तहत, महिलाओं को 15 सदस्यीय समूह बनाने की सलाह दी जाएगी। ताकि प्रत्येक समूह को राज्य सरकार द्वारा सहायता मिल सके और उनके स्थान पर छोटे स्तर की औद्योगिक कंपनी स्थापित की जा सके।

महिला समूहों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के अलावा, इस महिला सशक्तिकरण योजना के अंतर्गत राज्य सरकार महिलाओं के समूहों को विशेषज्ञों के माध्यम से उचित प्रशिक्षण और दिशा-निर्देश प्रदान किया जाएगा।

इस महिला सशक्तिकरण योजना से, ग्रामीण महिलाओं की वार्षिक आय में बृद्धि होगी | जिससे महिलाएं अपने परिवार का नेतृत्व ज्यादा अच्छी तरह कर पाएंगी।

इस योजना में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग की महिलाओं को लाभ दिया जाएगा | यह योजना आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग की महिलाओं के लिए आधार होगी।

इन लाभों के अलावा, राज्य के मुख्यमंत्री ने तियली समुदाय के बच्चों के लिए नकद लाभ की घोषणा की, जिन्हें समाज में निम्न स्तर का माना जाता है।

संबंधित परिवार को 3 लाख रूपए की पेशकश की जाएगी जो अपने बच्चों को स्कूलों में भेजने के लिए आर्थिक रूप से कमजोर हैं।

Click to comment

Most Popular

To Top