गुजरात

जानिए क्या है गुजरात सरकार की श्रमिक अन्नपूर्णा योजना, मिलेगा ये फायदा


जानिए क्या है गुजरात सरकार की श्रमिक अन्नपूर्णा योजना, मिलेगा ये फायदा


गुजरात की राज्य सरकार ने मजदूरों के लिए श्रमिक अन्नपूर्णा योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना के तहत राज्य के मजदूरों को 10 रुपये की सब्सिडी पर डिब्बाबन्द खाना दिया जाएगा। इस योजना की घोषणा वडोदरा में मुख्यमंत्री विजय रुपानी ने की थी। इस योजना का लाभ केवल राज्य के मजदूरो को मिलेगा। भारत के अनेक राज्यों में ऐसी योजनाए संचलित हुई है।

जो की श्रमिक वर्ग के लिए लाभदायक है इस योजना के क्रियान्वयन के लिए राज्य के बजट में कुल 50करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं। प्रत्येक नगर निगम शहर भर में श्रमिकों के लिए निर्माण स्थलों पर ऐसे भोजन उपलब्ध कराए गये हैं। अन्नपूर्णा योजना के तहत पूरे गुजरात में फिलहाल 10 शहरों में ऐसे 2500 से ज्यादा काउंटर खड़े किए गए हैं जिसका फायदा 25000 से ज्यादा श्रमिकों को मिलेगा

क्या है श्रमिक अन्नपूर्णा योजना

गुजरात की राज्य सरकार मध्य प्रदेश में अन्नपूर्णा रसोई की सफलता प्रक्षेपण के बाद श्रमिक अन्नपूर्णा योजना की योजना बनाई है। इस योजना के अंतर्गत, गुजरात सरकार दला, सब्जी और रोटी का 10 रुपये प्रति पैक्ड भोजन प्रदान करेगी। हालांकि उस भोजन की कुल लागत 30 रुपये होगी, सरकार प्रति भोजन 20 रुपये प्रति सब्सिडी देकर 10 रुपये में उपलब्ध करायेगी।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है प्रधानमंत्री युवा योजना, मोदी सरकार देगी युवाओं को बढ़ावा

श्रमिक अन्नपूर्णा योजना का उद्देश्य

श्रमिक अन्नपूर्णा योजना का उद्देश्य राज्य के गरीब मजदूरों को पौष्टिक भोजन प्रदान करना है। इस योजना में 30 रुपये का मिलने वाला खाना 10 रुपये की राशि में दिया जाएगा। इसमें 20 रुपये राज्य सरकार द्वारा भुगतान किया जाएगा और 10 रूपये श्रमिक प्रदान करेगा। इस योजना के लिए गुजरात सरकार को 50 करोड़ रुपये आवंटन किये गए है। इस श्रमिक अन्नपूर्णा योजना में मजदूरों को 10 रुपये में रोटी, सब्जी और दाल दी जाएगी।

श्रमिक अन्नपूर्णा योजना 2017 के लाभ

सरकार का उद्देश्य है कि देश में कोई भी आदमी भूखा ना सोये, इसी पहल के तहत यह योजना शुरू की गयी है। यह योजना केवल मजदूर वर्ग के लोगों के लिए ही शुरू की गयी है। इस योजना से देश का गौरव बढेगा। मजदूरो के बिना भवन निर्माण अधूरा है श्रमिक वर्ग दो वक्त की रोटी के लिए दिन रात महेनत करता है ऐसे में इस योजना से श्रमिक वर्ग को बहुत लाभ प्राप्त होगा और इसी की देखा देखी दूसरे प्रदेशों में भी ये योजना शुरू हो जाएगी।

इसे भी पढ़े   कन्या विवाह योजना : अब सीएम शिवराज उठाएंगे आपकी बेटी की शादी का खर्च

श्रमिक अन्नपूर्णा योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • मजदूरों को वोटर आईडी कार्ड
  • आधार कार्ड
  • दो फोटोग्राफ

श्रमिक अन्नपूर्णा योजना 10 रु में क्या मिलेगा

इन फूड स्टॉल में 10 रुपये में 5 रोटी, मिक्स सब्जी, चावल, अचार दिया जाता है और रविवार को खाने के साथ मिठाई भी दी जाती है।
श्रमिक को कैसे मिलेगा फायदा

राज्य में मजूदरों को भरपेट भोजन उपलब्ध कराने के लिए ही मुख्यमंत्री द्वारा योजना का शुभारंभ किया गया है। योजना का फायदा उठाने के लिए मजदूरों को वोटर आईडी कार्ड, आधार कार्ड और दो फोटोग्राफ के साथ खुद को फूड स्टॉल पर पंजीकृत कराना होगा। पंजीकृत होने के बाद उन्हें गुलाबी रंग का एक कार्ड दिया जाएगा। जिससे वो इस योजना का लाब उठा सकते हैं।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है प्रधानमंत्री स्टार्टअप योजना, सरकार देगी 10 लाख की मदद

गुजरात श्रमिक अन्नपूर्णा योजना के बारे में अन्य चीजें

गुजरात सरकार ने श्रमिक अन्नपूर्णा योजना के लिए 50 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं।

इस योजना के तहत, सरकार 25000 मजदूरों को सस्ती लंच प्रदान करेगी।

हालांकि उस भोजन की कुल लागत 30 रुपये होगी, सरकार प्रति भोजन 20 रुपये प्रति सब्सिडी प्रदान करके 10 रुपये पर उपलब्ध कराती है।

श्रमिक अन्नपूर्णा योजना के अंतर्गत भोजन उन निर्माण श्रमिकों को दिया जाएगा जहां वे काम कर रहे हैं।

गुजरात सरकार राज्य भर में ऐसे श्रमिकों के लिए निर्माण स्थलों पर ऐसे भोजन उपलब्ध कराएगी।

Click to comment

Most Popular

To Top