प्रधानमंत्री योजना

पीएम मोदी ने राजस्थान में सड़क के लिए शुरू की 15000 करोड़ की योजनाएं

पीएम मोदी ने राजस्थान में सड़क के लिए शुरू की 15000 करोड़ की योजनाएं

इस साल होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों का जायजा लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी उदयपुर पहुंचे। पीएम मोदी ने उदयपुर के देशवासियों को महत्वपूर्ण सड़क योजनाओं का तोहफा दिया। यहां नेशनल हाईवे प्रोजेक्ट्‌स की आधारशिला रखी और 15 हजार करोड़ की योजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया। 15 हजार करोड़ की परियोजना राजस्थान की ऐतिहासिक घटना है।

27 करोड़ की लागत के 9500 सड़कों के शिलान्यास और उद्धाटन से किसानों को फायदा होगा। अभी तक किसानों को शहर तक अपने फल सब्जियां ले जाने में दिक्कत होती है। अब सड़कों का जाल बिछने से उनकी समस्याएं दूर होंगी। काले रंग वाली सड़कें जीवन में रोशनी भर देती है।

नरेंद्र मोदी उदयपुर के खेलगांव में एक बड़ी रैली कर इन योजनाओं की शुरुआत करेंगे। इन योजनाओं में नेशनल हाईवे, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत गांव की सड़कें और प्रदेश सरकार की गौरव पथ जैसी सड़क योजनाएं शामिल हैं।

क्या है नेशनल हाईवे प्रोजेक्ट्‌स

नेशनल हाईवे प्रोजेक्ट्‌स के तहत सड़को का निर्माण किया जायेगा। इस प्रोजेक्ट के तहत छह लेन वाली सड़कों का निर्माण किया जायेगा और इस मार्ग पर सुरक्षा के तमाम इंतजाम किये जायेंगे। इन योजनाओं के तहत कोटा शहर में एक हैंगिग पुल की भी आधारशिला रखी गयी, यह देश का सबसे बड़ा हैंगिंग पुल होगा।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है हरियाणा सरकार की उड़ान योजना, लड़कियों को ऐसे मिलेगा लाभ

सड़को के सुधार में बजट

मोदी द्वारा नेशनल हाईवे प्रोजेक्ट्‌स की आधारशिला रखी. और 15 हजार करोड़ की योजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया जिसमें योजनाओ का बजट इस प्रकार रखा, कोटा – चंबल नदी पर बना 6 लेन हैंगिंग ब्रिज : लागत 278 करोड़, उदयपुर – गाैमती से उदयपुर 4 लेन रोड : लागत 1129 करोड़, राजसमंद – भीलवाड़ा से राजसमंद 4 लेन रोड : लागत 1360 करोड़, टू लेन रोड भीम – पारसोली 89 करोड़ पारसोली – गुलाबपुरा 98 करोड़, लांबिया – रायपुर 192 करोड़ लाडनूं-डेगाना-मेड़ता 301 करोड़, बागुंडी से बाड़मेर 200 करोड़, फतहपुर से सालासर होकर हरियाणा 672 करोड़, जाेधपुर से पोकरण 365 करोड़, जोधपुर से पचपदरा 244 करोड़,नागौर से नेतरा 301 करोड़, एनएचआई के अन्य कार्य 381 करोड़ – किशनगढ़ से उदयपुर होकर अहमदाबाद 6 लेन, किशनगढ-गुलाबपुरा 1184 करोड़, गुलाबपुरा – चित्तौड़ 1378 करोड़, चित्तौड़ – देबारी 1223 करोड़, देबारी – काया बायपास 850 करोड़, काया -श्यामला जी 1616 करोड़, जयपुर रिंग रोड – 1668 करोड़, उदयपुर शहर एलिवेटेड रोड – 400 कराेड़, बीकानेर शहर एलिवेटेड रोड – 400 करोड़, बालोतरा – सांडेराव पैकेज -1 – 178 करोड़, बालोतरा – सांडेराव पैकेज -2 – 164 करोड़।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है झारखंड सरकार की मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना, मुफ्त होगा लाखों का इलाज

योजना के तहत टूरिज्म की ताकत

मोदी द्वारा शुरु की गई योजना से ट्यूरिज्म को फायदा मिलेगा क्योंकी राजस्थान ट्यूरिस्ट की पहली पसंद है। सड़कों का विकास होने से ट्यूरिज्म का विकास होगा। ट्यूरिज्म में बहुत ताकत होती है। ट्यूरिस्ट आता है तो उसकी जेब से पैसा निकलेगा और पैसा यहां के लोगों की जेब में आएगा। माला बेचने वाला हो या फिर चाय वाला, सब कमाएंगे। राजस्थान में सड़कों का जाल मजबूत होने से ट्यूरिज्म का और विकास होगा।
नेशनल हाईवे प्रोजेक्ट्‌स के फायदे

नेशनल हाईवे प्रोजेक्ट्‌स के स्थान्य लोगो के जीवन में बहित सुधार आयेगा

समय की बचत होगी


अच्छे रोड होने से मां और नवजात की जिंदगी बच जाती है, वरना मां-बच्चे की जान खतरे में पड़ जाती है।


देरी होने से सब्जियां, फल खराब हो जाते हैं, लेकिन सड़क इन सभी को आसान बना देती है।


इसे भी पढ़े   जानिए क्या है उत्तर प्रदेश सरकार की 'विकलांग पेंशन योजना, इस फार्म को भरने के बाद मिलेंगे पैसे

किसान को सड़क से सबसे अधिक फायदा होगा, वह अपने फल, फूल, सब्जी और दूध आसानी से शहर जाएंगे, जिसके किसानों की जिंदगी बदल जाती है।

काफी खास है हैंगिंग पुल

बिना किसी पिलर का 1.4 किमी लंबाई यह हैंगिंग ब्रिज पिछले नौ साल से बन रहा अपनी तरह का पहला ब्रिज है। जिसे बनाने में आठ देशों के इंजीनियरों की तकनीक का इस्तेमाल किया गया है।

वैसे देश का यह तीसरा हैंगिंग ब्रिज है। चंबल नदी का यह झूलता हुआ ब्रिज 277 करोड़ की लागत से बना है। दरअसल चंबल में बड़ी संख्या में घड़ियाल और मगरमच्छ हैं और यह इलाका क्रोकोडाइल सेंचुरी के नाम से जाना जाता है।

इसलिए एनवायरमेंट मिनिस्ट्री से इस ब्रिज के लिए क्लीयरेंस नहीं मिल रहा था। इसके बाद केंद्र की यूपीए सरकार ने कोरिया और जापान की मदद से बिना पिलर का ब्रिज बनाने का फैसला किया। ब्रिज के उद्घाटन के बाद कोटा शहर से गुजरने वाले सभी वाहन इस हैंगिंग ब्रिज के गुजरेगें जिससे हादसों में भी कमी आएगी।

Click to comment

Most Popular

To Top