प्रधानमंत्री योजना

जानिए क्या है प्रधानमंत्री ग्राम परिवहन योजना’, बेटी बचाओ और कार पाओ योजना

जानिए क्या है प्रधानमंत्री ग्राम परिवहन योजना’, बेटी बचाओ और कार पाओ योजना
जानिए क्या है प्रधानमंत्री ग्राम परिवहन योजना’, बह हर गांव तक पहुंचेगी सरकारी बस सेवा

‘प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना’ के बाद मोदी सरकार की चर्चित ‘प्रधानमंत्री ग्राम परिवहन योजना’ एक क्रांतिकारी कदम साबित हो सकती है क्योंकि यह न सिर्फ ग्रामीण क्षेत्रों में सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था में सुधार लाएगी।

बल्कि विशेष रुप से महिलाओं के लिए पर्याप्त रोज़गार के विकल्प भी पैदा करेगी। जी हां, योजना के तहत बिना ब्याज के लोन दिया जाएगा। जिसकी सहायता से ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोग यहां तक की महिलाएं भी स्वंय के लिए रोज़गार स्थापित करने में सक्षम हो सकेंगी। क्या है ये योजना और क्यों है ख़ास आइए विस्तार से समझे।

क्या है ‘प्रधानमंत्री ग्राम परिवहन योजना’

What is ‘Pradhan Mantri Gram Transportation Scheme’

‘प्रधानमंत्री ग्राम परिवहन योजना’ एक नई योजना है जिसे मोदी सरकार द्वारा जल्द ही लागू किया जाएगा। इस योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में गरीबी रेखा के नीचे आने वाले लोग वाहन खरीदने के लिए सरकार से 6 लाख रुपए तक का लोन ले सकेंगे।

प्रधानमंत्री ग्राम परिवहन योजना के जरिए सरकार बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ को भी बढ़ावा दिया है। जिसके तहत महिलाओं और लड़कियोें को इस योजना को खासतौर पर जोड़ा जा रहा है। इस लिए आपका एक बेटी को जन्म देना आपके लिए कार दिलवा सकती है।

जिसे चुकाने की अवधि 6 साल तक होगी। इस योजना के जरिए प्रत्येक व्यक्ति कम से कम 6000-9000 रुपए तक कमा सकेगा। दिलचस्प बात यह है लोन ली गई राशि पर आवेदनकर्ता को किसी तरह का कोई ब्याज चुकाना नहीं पड़ेगा।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है हिमाचल सरकार की बेरोजगारी भत्ता योजना, ऐसे पाएं योजना का लाभ

‘प्रधानमंत्री ग्राम परिवहन योजना’ का उद्देश्य

Purpose of ‘Pradhan Mantri Gram Transportation Scheme’

‘प्रधानमंत्री ग्राम परिवहन योजना’ का मुख्य उद्देश्य सार्वजनिक परिवहन सुविधा में सुधार करने के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में रोज़गार को बढ़ावा देना है। योजना के तहत सरकार का मकसद उन ग्रामीण क्षेत्रों को परिवहन सुविधा प्रदान करना है जहां पक्की सड़कों का निर्माण तो हो चुका है।

लेकिन सार्वजनिक परिवहन, सीमित मात्रा में स्थित है। दरअसल यह इस तरह के इलाके है जहां अधिकतर ग्रामीणों को बिना वाहन के पैदल दूर-दराज का रास्ता आंकना पड़ता है। योजना लागू होने से बेरोजगारों को रोज़गार मिलने के साथ गांवों और शहरों के बीच की असामनता को कम किया जा सकेगा।

अन्य उद्देश्य

1)    प्रधानमंत्री ग्राम परिवहन योजना एक तरह से ग्रामीण सड़कों के माध्यम से गांवों और शहरों को जोड़ना का काम करेगी। अक्सर ग्रामीण अधिक दूरी के कारण शहर से दूर रहने का मन बना लेते है ऐसे में जब उनके सामने परिवहन सुविधा होगी तो वह शहरों की ओर आने में आनाकानी नहीं करेंगे।

2)    2011 की जनगणना के अनुसार लगभग 33 प्रतिशत भारतीय अभी भी पैदल यात्रा करते है और मोटर परिवहन का उपयोग नहीं करते बाकि लोग टु विलर का इस्तेमाल करते है जो असुरक्षित होती है ऐसे में यह योजना लाभकारी सिद्द हो सकती है।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है मेक इन इंडिया योजना, देश में बढ़ेगा रोजगार

कार्य प्रणाली
1)    शुरुआती दौर में इस योजना के तहत सरकार देशभर के 250 ब्लॉको में कम से कम 1500 सार्वजनिक वाहनों के लिए ब्याज मुक्त लोन प्रदान करेगी।

2)    सार्वजनिक वाहन की अधिकतम बैठने की क्षमता 10 होगी।

3)    योजना उपरांत पूरे देश में 80000 सार्वजनिक यात्रा वाहन के लिए लोन दिया जाएगा।

4)    इस योजना को प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के जरिए शुरु किया गया है।

5)    प्रधानमंत्री परिवहन योजना के तहत अधिकतम 6 लाख रुपए की लोन राशि दी जाएगी।

6)    लोन की अवधि लगभग 6 महीने की होगी।

7)    यह योजना स्थानीय लोगों को रोजगार के साथ मूल आय देने में सहायक होगी।

8)    शुरुआत में यह योजना छत्तीसगढ़ राज्य के बिलासपुर जिले में शुरु की जाएगी जिसके बाद यह उत्तर पूर्व राज्य के लगभग क्षेत्रों में शुरु की जाएगी।

9)    एसएचजी की मदद से 10-13 यात्रियों की क्षमता वाली मिनी बस को संचालित करने के लिए ब्याज मुक्त ऋण और प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।

‘प्रधानमंत्री ग्राम परिवहन योजना’ की प्रमुख विशेषताएं

Key Features of ‘Pradhan Mantri Gram Transportation Scheme’

1)    इस योजना के तहत ग्रामीण भारत में सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था को बेहतर बनाने की पहल की जा रही है।

2)    ये एक तरह से दूर दराज के क्षेत्रों में परिवहन सुविधा उपलब्ध करने ख़ास कार्यक्रम है।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है आंध्र प्रदेश सरकार की ब्रॉडबैंड इंटरनेट के लिए फाइबर ग्रिड परियोजना

3)    योजना के जरिए ग्रामीण लोगों को और ख़ासतौर से महिलाओं को रोज़गार देने की संभवता हो सकेगी। बता दें सरकार का मकसद आदिवासी महिलाओं को इस योजना से जोड़ना है।

4)    योजना के अंतर्गत स्पॉन्सर्ड दाम पर ग्रामीणों को वाहन बेचे जाएंगे।

5)    योजना के तहत सब्सिडी दरों पर 10-12 सीटों वाली यात्री वाहन सरकार प्रदान करने पर विचार कर सकती है।

6)    योजना पर 127 करोड़ रुपए का निवेश की आवश्यकता होगी।

योजना के प्रमुख लक्ष्य

Main goals of the plan

1)    10 से 12 सीट वाले यात्री वाहन के साथ सभी गांवो को सड़कें प्रदान करना।

2)    ग्राम सड़क योजना के बाद ग्रामीण विकास का दूसरा सबसे बड़ा कदम प्रधानमंत्री ग्राम परिवहन योजना है जिससे महिलाओं के आत्मविश्वास को नई दिशा मिलेगी।

3)    सीटों वाली यात्री वाहनों की पर्याप्त आवश्यकता है।

4)    वित्तीय वर्ष 2015-16 में प्रधानमंत्री ग्राम परिवहन योजना के तहत 36,000 किलोमीटर सड़कें बनाई गई थी।

5)    इस वित्तीय वर्ष में लक्ष्य को बढ़ाकर 48000 किलोमीटर कर दिया गया है।

अगर आप ग्रामीण क्षेत्र से संबंधित है और इस योजना का लाभ उठाना चाहते है तो इस योजना से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए आप गांव के किसी मुखिया या जिला परिषद से संपर्क जरुर करें।

Click to comment

Most Popular

To Top