दिल्ली

जानिए क्या है दिल्ली में उजाला स्कीम, अब मात्र 75 में मिलेगी LED बल्ब


जानिए क्या है दिल्ली में उजाला स्कीम, अब मात्र 75 में मिलेगी LED बल्ब


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 5 जनवरी 2015 को दिल्ली में घरेलू बिजली बचत योजना का शुभारंभ किया गया था। इस योजना के अंतर्गत राष्ट्रीय स्तर पर घरों और सड़कों पर एलईडी बल्ब लगाए जाने की योजना है। साफ़ शब्दो में कहा जाए तो अब हर घर में उजाला होने के साथ बिजली खपत में कमी का विस्तार होना संभव है।

उजाला स्कीम- दिल्ली में भी एलईडी बल्ब उपलब्ध होंगे

एलईडी बल्ब लगाए जाने को ‘प्रकाश पथ’ के रुप में प्रस्तुत करते हुए पीएम मोदी जी ने दिल्ली में घरेलू बिजली बचत और घरों तथा सड़कों पर एलईडी बल्ब लगाए जाने संबंधी योजना का शुभारंभ किया। प्रतीक स्वरुप प्रधानमंत्री ने साउथ ब्लॉक में एक बल्ब के स्थान पर एलईडी बल्ब लगाया। जिससे तमाम जन में संदेश पहुंचा गया कि बल्ब की अपेक्षा एलईडी क्यों महत्वपूर्ण है।

साउथ ब्लॉक में सामान्य बल्बों के स्थान पर एलईडी बल्ब लगाते हुए पीएम ने कहा कि प्रति माह एलईडी से 7000 यूनिट बिजली बचेगी और साथ ही बिजली बचाने के काम को जन अभियान बनाने की जरुरत होगी।

क्या है उजाला योजना क्या रहा उद्देश्य

उजाला योजना को इससे पहले ‘घरेलु कुशल प्रकाश कार्यक्रम’ नाम के साथ शुरु किया गया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित इस योजना को अब एक नाम के साथ फिर से शुरु किया गया है। ये योजना उपभोक्ताओं को पहले से और अधिक लाभ प्रदान की पहल है।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है हरियाणा सरकार की उच्च शिक्षा ऋण योजना, ऐसे मिलेगा छात्रों को योजना


जिसके तहत कम दाम पर एलईडी लाइट बल्ब लोगों को दिए जाएंगे। इस ख़ास योजना का मुख्य उद्देश्य सामान्य बल्ब की तुलना में करीब 200 मिलिनियम उपभोक्ता को एलईडी लाइट बल्ब की इस्तेमाल की तरफ प्रेरित करना है। इससे पूरे देश भर में करीब 10.5 अरब किलोवाट की बचत संभव है।

योजना लागू प्रमुख उद्देश्य

देखा जाए तो बिजली पैदा करने से बिजली बचाना कहीं अधिक सस्ता है। बिजली पैदा करने से बिजली बचाना इसलिए कठिन है क्योंकि जहां एक उत्पादन इकाई भारी मात्रा में बिजली पैदा करती है, वहीं बिजली बचाने के लिए करोड़ों लोगों की सक्रिय भागीदारी होना जरुरी है। ऐसे में लोगों में जागरुकता पैदा करनी चाहिए साथ ही प्रसिद्ध एवं प्रतिष्ठित नागरिकों को एलईडी बल्ब लगाए जाने के अभियानों से जोड़ना चाहिए।

योजना चुनौती

प्रधानमंत्री द्वारा चलाए गए इन कार्यक्रमों की शुरुआत बल्ब निर्माताओं के लिए एक बड़ी चुनौती है क्योंकि वह गुणवत्ता से समझौता किए बिना बेहतरीन एलईडी बल्ब का उत्पादन कर रहे है।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है कौशल विकास योजना, कैसे युवाओं को मिलेगा रोजगार

योजना प्रमुख लाभ

  • योजना के जरिए जहां एलईडी बल्ब सस्ती दरों पर मिलेंगे वहीं इनसे बिजली बचत भी होगी।
  • दिल्ली में भी ऐसे कई घर है जहां एलईडी बल्ब की तुलना में सामान्य बल्बों का प्रयोग किया जाता है। ऐसे में यह योजना सफल सिद्द हो सकती है।


योजना महत्वपूर्ण बातें

  • योजना के तहत जिला स्तर पर लक्ष्य बनाया जाना चाहिए और एक लाख से अधिक आबादी वाले शहरों में इस योजना को प्रमुखता दी जानी चाहिए।

  • इस कार्यक्रम में उद्यमियों, प्रतिष्ठित नागरिकों और आम लोगों की भागीदारी राष्ट्र प्रेम का कार्य है, क्योंकि इससे आयात बिलों में कमी जाएगी।

  • ये एक प्रकार की समाज सेवा है और इससे पर्यावरण सुरक्षित होगा।

  • ये पहल देशभर में बिजली बचाने के संदेश के प्रसार के लिए सरकार का प्रयास है।


योजना प्रमुख विशेषताएं

एलईडी बल्ब साधारण बल्ब की तुलना में 50 गुना अधिक समय तक चलता है। इसके अलावा सीएफएल की तुलना में एलईडी बल्ब 8 से 10 गुना अधिक टिकाऊ होता है। इसलिए इससे बिजली और पैसे दोनों की बचत होती है।

दिल्ली में घरेलु उपभोक्ताओं को एलईडी बल्ब 10 रुपए के शुरुआती भुगतान पर दिए जाएंगे।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है नमामि गंगा योजना, जिसके लिए मोदी सरकार ने जारी किए 2 हजार करोड़

12 महीने तक प्रति बल्ब 10 रुपए उनके बिजली के बिल में वसूले जाएंगे।

इस प्रकार एलईडी बल्ब, बाजार कीमच 350 से 600 रुपए प्रति बल्ब की तुलना में इस योजना के तहत घरेलू उपभोक्ताओं को प्रति बल्ब 130 रुपए की कीमत पर दिए जाएंगे।

दिल्ली के घरों में एक एलईडी बल्ब लगाने से लगभग 162 रुपए की वार्षिक बचत का अनुमान है। एलईडी बल्बों की तीन साल की वारंटी होगी।

उजाला योजना का प्रमुख लक्ष्य

योजना का लक्ष्य रहा कि मार्च 2016 तक 100 शहरों में घरों और सड़कों पर एलईडी बल्ब लगाए जाएंगे।

कहां और कैसे मिलेगी सुविधा

इस योजना के पंजीकरण के लिए एक वेब आधारित प्रणाली की शुरूआत की। उपभोक्ता वेबसाइट www.eeslindia.org/delhi-launch पर या निर्धारित नंबर पर SMS भेजकर पंजीकरण कर सकते है।

बतातें चलें कि पीएम मोदी द्वारा दिल्ली में इस योजना की शुरुआत के दौरान दिल्ली के एक आम नागरिक को दो एलईडी बल्ब भी प्रदान किए गए थे। योजना के तहत मार्च 2015 से एलईडी बल्बों को चरणबद्ध तरीके से वितरित किया जाएगा।

Click to comment

Most Popular

To Top