छत्तीसगढ़

जानिए क्या है छत्तीसगढ़ सरकार की सुचिता योजना, छात्राओं को मिलेगा ये लाभ

जानिए क्या है छत्तीसगढ़ सरकार की सुचिता योजना, छात्राओं को मिलेगा ये लाभ

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने राज्य की छात्राओं के लिए “सुचिता योजना” नामित एक सामाजिक योजना शुरू की है। इस योजना के तहत सरकार छत्तीसगढ़ की हर सरकारी स्कूल की छात्राओं को सैनिटरी नैपकिन प्रदान करेगी। सैनिटरी नैपकिन  छात्राओं को व्यक्तिगत स्वच्छता बनाए रखने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए प्रदान किया जाएगा।

छत्तीसगढ़ सरकार के इस कार्यक्रम द्वारा निश्चित रूप से हजारों छात्राओं को उनके मासिक चक्र के दौरान स्कूल आने में होने वाली समस्याओं का सामना करने में मदद मिलेगी। इस योजना से विद्यालय की उन छात्राओं को जो बाजार में चिकित्सा या जनरल स्टोर से सैनिटरी नैपकिन खरीदने में हिचकिचाहट महसूस करती हैं उन्हें भी मदद मिलेगी।

क्या है सुचिता योजना

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री रमन सिंह ने नई योजना शुरू की है जिसका नाम है सुचिता योजना। इस योजना के अन्तर्गत स्वचालित सैनिटरी नैपकिन वेंडिंग मशीनों को सभी छत्तीसगढ़ के सभी सरकारी स्कूलों में लगाया जायेगा। इस योजना से छत्तीसगढ़ राज्य में 2,000 सरकारी स्कूलों के में लड़कियों के लिए स्वचालित सैनिटरी नैपकिन वेंडिंग मशीनों को स्थापित किया जायेगा।

इसे भी पढ़े   जानिए कैसे योगी सरकार देगी 10वीं पास को 10000 रु इनाम, ये है खास योजना

सुचिता योजना की कार्य योजना

सुचिता योजना के तहत राज्य सरकार सभी सरकारी स्कूलों की छात्राओं को सैनिटरी नैपकिन प्रदान करेगा। सैनिटरी नैपकिन  वेंडिंग मशीनों  के माध्यम से वितरित किए जाएंगे जो बटन प्रेस के माध्यम से स्वचालित रूप से कार्य करेंगे। इन वेंडिंग मशीनों को राज्य भर के सभी सरकारी स्कूलों में छात्राओं के शौचालय में स्थापित किया जाएगा। छात्राएं जिन्हें अपने मासिक धर्म चक्र के दौरान सैनिटरी नैपकिन की जरूरत है वे इन नैपकिन वेंडिंग मशीनों के माध्यम से इसे प्राप्त कर सकती हैं। उन्हें अपनी कक्षाओं को छोड़ने की जरूरत नहीं है और वे अपनी पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं।

छत्तीसगढ़ में सुचिता योजना का लाभ

वाश रूम के अंदर लड़कियों के लिए सभी सरकारी स्कूलों में स्वचालित सैनिटरी नैपकिन वेंडिंग मशीनों का लाभ

सरकार इस योजना के अंतर्गत मुफ्त में लड़की छात्रों के लिए 72,000 नैपकिन प्रदान करेगी । बाद में, सरकार 2 रुपये प्रति की लागत से छात्राओं को नैपकिन प्रदान करेगा।

व्यक्तिगत और मासिक धर्म स्वच्छता बनाए रखने में मदद मिलेगी

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है नीतीश कुमार का कुशल युवा कार्यक्रम, अब युवाओं को आएंगे अच्छे दिन

ये योजना लड़की छत्राओ को दुकान से सैनिटरी नैपकिन खरीदने की झिझक को दूर करेगा

छत्तीसगढ़ में सुचिता योजना की विशेषताएं

सरकार छत्तीसगढ़ में सभी सरकारी स्कूलों में स्वचालित सैनिटरी नैपकिन वेंडिंग मशीनों को स्थापित करेगी

सरकार सैनिटरी नैपकिन एटीएम वेंडिंग मशीनों को करीब 2,000 सरकारी स्कूलों स्थापित किया गया है

सरकार इस्तेमाल किया नैपकिन को सुरक्षित और पर्यावरण के अनुकूल निपटा ने  के लिए सरकारी स्कूलों में पर्यावरण के अनुकूल incinerators स्थापित हो जाएगा

प्रारंभ में, सरकार ने सरकारी स्कूलों में मुफ्त में एक लड़कियों के छात्रों के लिए 72,000 नैपकिन उपलब्ध कराने के उद्देश्य है

बाद में, सरकार 2 प्रति लागत से छात्राओं को नैपकिन प्रदान करेगी

सभी सरकारी स्कूलों में लड़कियों के शौचालय के अंदर स्वचालित सैनिटरी नैपकिन वेंडिंग मशीनों को स्थापित किया जायेगा

सुचिता योजना का उद्देश्य व्यक्तिगत और मासिक धर्म स्वच्छता बनाए रखने में लड़कियों को प्रोत्साहित करना है

लडकिया वॉश रूम मैं जाकर वेंडिंग मशीन से बटन दबाकर सैनिटरी नैपकिन ले सकेगी

सुचिता योजना  से संबंधित जानकारी

छत्तीसगढ़ सरकार ने प्रारंभिक चरण में नैपकिन मुफ्त में बांटने का फैसला किया है। कुल 7,200 नैपकिन राज्य भर में मुफ्त में वितरित किये जाएंगे। बाद में, 2 रु हर नैपकिन के लिए शुल्क लिया जाएगा। जो बाजार मूल्य की तुलना में बहुत कम है।

इसे भी पढ़े   पीएम मोदी ने देश की धरोहर को बचाने के लिए शुरू की हेरिटेज सिटी डेवलपमेंट योजना

सरकार स्वास्थ्य संगठन या NGO और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को स्कूलों में भेजेगी ताकि छात्राओं को मासिक धर्म स्वच्छता बनाए रखने के बारे में जागरूक किया जा सके।

हर जिले के प्रत्येक स्कूल को अनिवार्य रूप से इस योजना के तहत कवर किया जाएगा | उन स्कूलों पर विशेष ध्यान दिया जाएगा जो ग्रामीण क्षेत्रों और आदिवासी बेल्ट में स्थित हैं और जहां छात्राएं बाजार से सैनिटरी नैपकिन  नहीं खरीद पाती हैं। सुचिता योजना से उन्हें उनके स्कूलों से नैपकिन पाने में मदद मिलेगी।

नैपकिन वेंडिंग मशीनों  को राज्य भर के सभी सरकारी स्कूलों में छात्राओं के शौचालय में स्थापित किया जाएगा।
अब तक राज्य भर के 2,000 स्कूलों को सुचिता योजना के तहत कवर किया जा चुका है और लड़कियों को मुफ्त सैनिटरी नैपकिन  उपलब्ध कराई जा रही है।

Click to comment

Most Popular

To Top