बिहार

जानिए क्या है बिहार सरकार की पत्रकार पेंशन योजना, मिलेगा ये सम्मान

जानिए क्या है बिहार सरकार की पत्रकार पेंशन योजना, मिलेगा ये सम्मान
जानिए क्या है बिहार सरकार की पत्रकार पेंशन योजना, मिलेगा ये सम्मान

बिहार राज्य में मांझी सरकार के अधीन पत्रकारों के लिए पेंशन योजना की घोषणा की गई थी। लेकिन नीतीश कुमार ने इस योजना के संशोधन में कुछ बदलाव कर इसे एक नए नाम के साथ एक बार फिर शुरु किया है। इस योजना का नाम पत्रकार सम्मान योजना है। जिसके तहत राज्य सरकार राज्य के प्रत्येक पत्रकार को पेंशन के रुप में वित्तीय सहायता प्रदान करती है।

जीतन राम मांझी ने की थी घोषणा

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री रहे जीतन राम मांझी ने बिहार के पत्रकारों के लिए पेंशन योजना की शुरुआत की थी। मांझी ने पेंशन योजना को मंजूरी देने के दौरान पटना समेत बिहार के सभी जिलों में प्रेस क्लब भवन बनाने की भी घोषणा की थी। अब इसी ‘बिहार पत्रकार पेंशन योजना’ का नाम बदलकर बिहार पत्रकार सम्मान योजना कर दिया गया है।

सरकार पेंशन के नियमों में कुछ संशोधन करके बिहार में पत्रकारों की पेंशन योजना के पुराने संस्करण को संशोधित करने की रणनीति बना रही है। वर्तमान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस योजना का नाम बदलने और मौजूदा पेंशन के नियमों में आवश्यक बदलाव के लिए निर्देश जारी कर दिए है।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है हरियाणा सरकार की 'सक्षम युवा योजना', युवाओं को करना होगा बस ये काम फिर मिलेगी नौकरी

योजना लागू करने का प्रमुख उद्देश्य

मीडियाकर्मी हमेशा से ही समाज में सुधार की अहम भूमिका निभाते आए हैं। वहीं सरकार और लोगों के बीच भी एक संतुलन स्थापित करने में मीडिया कामियाब रहा है। देखा जाए तो मीडिया लोकतंत्र का चौथा स्तंभ है। ऐसे में उनके भविष्य का ख्याल रखना सरकार का पहला कर्तव्य है।

शायद इसी प्रोत्साहन को बढ़ावा देते हुए हरियाणा के बाद अब बिहार सरकार द्वारा पत्रकारों के लिए ‘पेंशन सम्मान योजना’ शुरु की गई है। जिसके जरिए अब पत्रकार भी पेंशन के अधिकारी होंगे। योजना के तहत पत्रकारों को राज्य सरकार हर महीने सेवा के आधार पर वित्तीय सहायता प्रदान करेगी।

बिहार पत्रकार सम्मान योजना से मिलने वाले लाभ

पेंशन के रुप में लाभार्थी को हर महीने 5,000 रुपए की धनराशि उपलब्ध की जाएगी।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है प्रधानमंत्री स्टार्टअप योजना, सरकार देगी 10 लाख की मदद

योजना के लिए पात्रता

·       बिहार में 20 वर्ष का न्यूनतम अनुभव वाले 60 वर्ष की आयु से ऊपर वाले पत्रकार इस योजना के लिए पात्र मानें जाएंगे।

·       एक सेवानिवृत्त पत्रकार को इस योजना के लिए योग्य माना जाएगा।

योजना की बड़ी विशेषताएं

  • योजना के तहत केवल बिहार पत्रकारों को लाभ दिया जाएगा। वहीं योजना के तहत कई सुविधाएं प्रदान की जाएगी। 
  • वेब न्यूज पोर्टल के प्रतिनिधियों के लिए एक नीति बनाई जाएगी और सुझाव लेने के लिए एक कमिटी का भी गठन किया जाएगा।
  • योजना के अंतर्गत लाभार्थी संबंधित दिशा निर्देश जल्द ही जारी किए जाएंगे।
  • योजना के तहत मुख्यमंत्री द्वारा वरिष्ठ पत्रकारों का चयन किया गया है जिसमें 5 व 20 सालो से कार्य कर रहे कर्मचारियों को इस योजना का पात्र बनाया जाएगा।

योजना के प्रमुख तत्व

  • योजना के अंतर्गत 20 साल की सेवा पूरी करने वाले मीडियाकर्मियों को प्रत्येक माह 5000 हजार रुपए दिए जाएंगे।
  • मीडियाकर्मी, जिनकी आयु 60 वर्ष से अधिक है और किसी भी समाचार पत्र में उनका 20 वर्ष का कार्य अनुभव है, वे योजना के अंतर्गत लाभ लेने के लिए पात्र होंगे।
इसे भी पढ़े   जानिए क्या है क्लीन माय कोच ऐप, कैसे एक मैसेज पर क्लीन होगा आपका कोच


पत्रकारों ने पेंशन बढ़ाने की थी मांग

इससे पहले, कुछ पत्रकारों ने सरकार से पेंशन की रकम बढ़ाने के लिए अनुरोध किया, लेकिन सरकार ने अनुरोध को अस्वीकार कर दिया था। फरवरी 2015 में पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की शासन अवधि में बिहार पत्रकार सम्मान योजना का गठन किया गया था।

योजना संबंधी अधिक जानकारी

सरकार ने पत्रकारों के प्रतिनिधिमंडल से भी योजना के लिए कुछ प्रभावी सुझाव देने के लिए अनुरोध किया है। उनसे यह भी पूछा गया है कि पत्रकारिता के क्षेत्र में कम से कम 20 वर्षों के कार्य अनुभव के योग्यता मानदंडो को प्रमाणित करने के लिए क्या तरीका इस्तेमाल किया जाना चाहिए।

Click to comment

Most Popular

To Top