जानिए क्या है केजरीवाल सरकार की लाडली योजना, बच्चियों को मिलेंगे 10 हजार रुपये
दिल्ली

जानिए क्या है केजरीवाल सरकार की लाडली योजना, बच्चियों को मिलेंगे 10 हजार रुपये

बेटियों को बोझ समझने की मानसिकता तो सदियों से चली आ रही है। दुख तो इस बात का है कि आज भी ये मानसिकता बनी हुई है। हमारा देश आज21वीं सदी में जी रहा है पर मानसिकता 18वीं शताब्दी की है। आज भी लड़की पैदा होते ही मां-बाप के चेहरे का रंग उड़ जाता है।

वो इतने निराश हो जाते हैं मानो उनका सब कुछ छिन गया हो। कहने के लिए तो लोग कहते हैं कि बेटी ही हमारा बेटा है। लेकिन उनका दिल ही जानता है कि वो कितना सच बोल रहे हैं।

आज देश में कन्याभूण हत्या जैसी घटना आम हो गई है इसी को देखते हुए दिल्ली सरकार ने एक बहुत महत्वपूर्ण योजना शुरु की है। जो बालिकाओं के साथ हो रहे इस भेदभाव के खिलाफ दिल्ली सरकार ने 1-01-2008 को “लाडली योजना” को लड़कियों की सुरक्षा के लिए शुरू किया था।

इसे भी पढ़े   पीएम मोदी ने देश की धरोहर को बचाने के लिए शुरू की हेरिटेज सिटी डेवलपमेंट योजना

समाज में लड़की के महत्व के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए कार्यकरम शुरू किये। ये योजना लड़कियों को सुरक्षा प्रदान करने और लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा देने में सहायता करती है।

क्या है लाडली योजना

लाडली योजना के अंतर्गत दिल्ली के किसी भी अस्पताल/नर्सिंग होम अथवा संस्था में जन्म लेने वाली बालिका को 11,000 रुपये दिए जाते हैं। यदि बालिका का जन्म इसके अलावा कहीं और हुआ हो तो उसे 10,000 रुपये दिए जाने का प्रावधान है। ये धनराशि बालिका के खाते में जमा करवाई जाती है।

इसके अलावा कक्षा एक, छह और नौ में दाखिले के समय भी बालिका के खाते में प्रत्येक बार पांच हजार रुपये जमा करवाए जाते हैं। कक्षा 10 पास करने पर तथा 12वीं में दाखिला लेने पर भी 5-5 हजार रुपये इस खाते में जमा करवाए जाने का नियम लाडली योजना में है। 18 वर्ष की उम्र पूरी करने पर और कक्षा 10 उत्तीर्ण करने के बाद ही बालिका इस पूरी रकम को ब्याज सहित अपने खाते से निकाल सकती है।

इसे भी पढ़े   छत्तीसगढ़ में सरकार ने शुरू की उज्जवला योजना, मुफ्त मिलेगा गैस सिलेंडर

लाडली योजना का उद्देश्य

इस योजना को लागू करने के पीछे सरकार की सबसे बड़ी मंशा ये है कि कन्या भ्रूण हत्या पर रोक लगे। लड़कियों को दुनिया में आने दिया जाए और सबसे बड़ी बात की बेटियों को बोझ नहीं समझा जाए।

लाडली योजना के लाभ

अगर एक लड़की दिल्ली में एनसीटी (नेशनल कैपिटल टेरीटरी) के अस्पताल / नर्सिंग होम में पैदा होती है तो उसे 11,000 रुपये का लाभ मिलता है।

यदि कोई लड़की घर या उपरोक्त उल्लिखित अस्पताल के बाहर पैदा होती है तो वह 10,000 रु का लाभ पाने के योग्य है।

इस योजना में 5000 रु की सहायता कक्षा 1, कक्षा 6, कक्षा 9, कक्षा 10 और कक्षा 12 में बच्चे के प्रवेश के लिए प्राप्त होती है।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री युवा पेशेवर विकास कार्यक्रम, इन युवाओं को मिलेगी नौकरी

लाडली योजना के लिए आवश्यक पात्रता और शर्तें

आवेदक दिल्ली का निवासी होना चाहिए।

परिवार की वार्षिक आय 1 लाख से अधिक नहीं होनी चाहिए।

इस योजना का लाभ केवल परिवार में दो लड़कियों को ही मिलेगा।

आवेदक का स्कूल दिल्ली सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त होना चाहिए।

लाडली योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

लाडली योजना का फॉर्म

लाडली योजना का फॉर्म

पता प्रमाण (दिल्ली में तीन साल का निवास प्रमाण, राशन कार्ड, बिजली बिल)

माता पिता का आय प्रमाण पत्र

बालिका का जन्म प्रमाण पत्र

परिवार की तस्वीर

आवेदक का जाति प्रमाण पत्र

बच्चे और माता-पिता दोनों का आधार कार्ड

लाडली योजना का लाभ पाने के लिए किससे और कहाँ संपर्क करें

आप भारतीय स्टेट बैंक से संपर्क कर सकते हैं।

सरकारी या मान्यता प्राप्त स्कूल से संपर्क करें।

सामाजिक कल्याण विभाग के कार्यालय संपर्क करें।

लाडली योजना का फॉर्म डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें

जानिए क्या है केजरीवाल सरकार की लाडली योजना, बच्चियों को मिलेंगे 10 हजार रुपये
Click to comment
To Top