प्रधानमंत्री योजना

जानिए क्या है प्रधानमंत्री सुकन्या समृद्धि योजना, कैसे बेटीयों को मिलेंगे 6 लाख रुपये

जानिए क्या है प्रधानमंत्री सुकन्या समृद्धि योजना, कैसे बेटीयों को मिलेंगे 6 लाख रुपये
जानिए क्या है प्रधानमंत्री सुकन्या समृद्धि योजना, कैसे बेटीयों को मिलेंगे 6 लाख रुपये

सुकन्या समृद्धि खाता योजना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बेटी बचाओं, बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत चलाई हैं देश में लड़कियों का अनुपात लड़को की अपेक्षा कम हैं जिसके कई कारण हैं जिन में से एक हैं।

बेटी की पढ़ाई का खर्च

Daughter’s education expenditure

परिवार की सोच होती हैं बेटी पराई हैं उसको पढ़ाने से कोई लाभ नहीं, साथ ही जब रोटी ही बनाना हैं तो पढ़ाने का क्या लाभ इस तरह की सोच के कारण परिवार बेटियों की शिक्षा पर खर्च नहीं करना चाहते हैं एवं उन्हें बोझ समझते है।

बेटी की शादी का खर्च

Daughter’s wedding expenses

देश में बेटी की शादी की चिंता जन्म से ही सताने लगती हैं इसलिए माता पिता को बेटी खटकती हैं। उपरोक्त दो कारणों को कुछ हद तक कम करने के लिए बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना चलाई जा रही हैं जिसके तहत सुकन्या समृद्धि खाता योजना में बेटियों के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए कई अच्छे बिन्दुओं को जोड़ा गया हैं।

क्या है सुकन्या समृद्धि खाता योजना

What is Sukanya Samriddhi Account Scheme

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना के तहत सुकन्या समृद्धि खाता की घोषणा 2 दिसम्बर 2014 को की गई जिसका शुभारम्भ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बेटी बचाओं, बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत किया।

सुकन्या समृद्धि खाता कन्या के जन्म से 10 वर्ष तक की आयु में खोला जा सकता हैं जब तक कन्या के माता पिता या अन्य क़ानूनी अभिभावक खाते की देख रेख कर सकते हैं। 10 वर्ष की आयु  की बाद कन्या स्वयम अपने खाते के लिए उत्तरदायी बनेंगी।

साथ ही सुकन्या समृद्धि खाते के तहत कन्या के नाम से केवल एक ही अकाउंट खोले जाने की अनुमति हैं। कन्या के माता पिता या अन्य क़ानूनी अभिभावक (depositor) योजना के तहत अधिकतम दो अकाउंट खोल सकते हैं।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या ओडिशा सरकार की वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना, ऐसे करें आवेदन

अगर माता के प्रथम प्रसव के दौरान एक कन्या हैं और द्वितीय प्रसव से दो अर्थात जुड़वाँ कन्या का जन्म होता हैं तब वे योजना के तहत तीसरा अकाउंट खोल सकते हैं। इस स्थिति में कन्या के अभिभावक को मेडिकल प्रमाणपत्र देना होगा।

सुकन्या समृद्धि खाता के लिए जरूरी दस्तावेज

Documents required for Sukanya Samriddhi Account

बेटी का जन्म प्रमाणपत्र

डिपोजिटर पहचान पत्र

डिपोजिटर एड्रेस प्रूफ

सुकन्या समृद्धि खाता योजना के नियम

Rules of Sukanya Samriddhi Account Scheme

सुकन्या समृद्धि खाता के तहत अकाउंट खोलने के लिए डिपोजिटर को 1000/ की न्यूनतम राशि जमा करना अनिवार्य हैं।

  1. एक साल में सुकन्या समृद्धि खाते में न्यूनतम 1000/ रुपये से अधिकतम 1, 50,000/ रूपये तक जमा किये जा सकते हैं।
  2. अगर साल के अंत तक कुल राशि 1000/ रुपये ही प्राप्त की गई तब उस खाते को निष्क्रिय माना जायेगा जिस पर दंड स्वरूप 50/ रूपये प्रति निष्क्रिय साल लगाया जायेगा।
  3. सुकन्या समृद्धि खाता (Sukanya Samriddhi Yojana) के तहत खोले गए अकाउंट में पैसा नगद, चेक या डिमांड ड्राफ्ट किसी भी तरीके से जमा कराया जा सकता हैं। चेक और डिमांड ड्राफ्ट पोस्टमास्टर या ब्रांच के नाम से बनाये जा सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि खाता योजना के लाभ

Benefits of Sukanya Samriddhi Account Scheme

सुकन्या समृद्धि खाता के तहत खोले गए अकाउंट पर दिया जाने वाला ब्याज सरकार द्वारा प्रति वर्ष बजट के अंतर्गत तय किया जायेगा। 2015-16 में यह ब्याज दर 9.2% तय की गई थी। अब वर्ष 2017-18 मैं यह घाट कर 8. 4 हो गयी है। यह ब्याज चक्रवर्ती ब्याज के रूप में पॉलिसी के पूरा होने की अवधि 14 वर्षों तक लगता रहेगा जिसकी दरे प्रति वर्ष बदलती रहेंगी।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है बिहार सरकार की 4 ग्रेड के सरकारी कर्मचारियों के लिए आवास योजना

सुकन्या समृद्धि खाते में रुपये खोले जाने के 14 वर्षो तक जमा किये जा सकते हैं एवम इस खाते को चालू रखने की अवधि 21 वर्ष अथवा कन्या के विवाह तक तय की गई हैं। सुकन्या समृद्धि खाते के लिए विशेष पासबुक तैयार की गई हैं जिसमे कन्या की जन्म दिनांक, अकाउंट खोलने की दिनांक, अकाउंट नंबर, डिपोजिटर का नाम, पता एवम् जमा की जाने वाली कुल राशि।

सुकन्या समृद्धि खाते के अंतर्गत दी जाने वाली अन्य सुविधा

Important Sukanya Samriddhi Account

अकाउंट को किसी भी शहर, किसी भी अन्य ब्रांच में ट्रान्सफर किया जा सकता हैं जहाँ भी कन्या को सुविधा हो। इस सुकन्या सुमृद्धि योजना मे withdrawal का समय 21 साल या शादी का समय है इससे पहले व्यक्ति चाहे तो पैसा नही निकाल सकता। परंतु लाइफ मे कई एसे मौके आते है जब पैसो की अचानक जरूरत पड़ सकती है तो ऐसे में अभिवावको को पैसा निकलने की अनुमति हैं।

जिसके लिए प्रमाण देना आवश्यक हैं। क्रेडिट के रूप मे अकाउंट से 50 % राशि निकाली जा सकती हैं लेकिन यह राशि कन्या की किसी जरूरत जैसे उच्च शिक्षा अथवा शादी आदि से संबंधी होना चाहिए। अगर कन्या का विवाह 18 से 21 वर्ष की अवधि में किया जायेगा तब यह अकाउंट बंद कर दिया जायेगा। अर्थात कन्या की शादी के बाद अकाउंट बंद कर दिया जायेगा।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है प्रधानमंत्री विकल्प योजना, अब त्योहारों पर रेल में मिलेगा कन्फर्म टिकट

सुकन्या समृद्धि योजना का मुख्य उद्देश्य

The main purpose of the Sukanya Samriddhi Yojana

जैसा की पहले भी बताया जा चुका है कि इस सुकन्या सुमृद्धि योजना से पैसा सिर्फ लड़की की शिक्षा और शादी के लिए निकाला जा सकता है मतलब लड़की के भविष्य के लिए सेविंग पहले से ही शुरू कर दी जाती है और यह राशि केवल लड़की के लिए ही यूज की जा सकती है।

सुकन्या समृद्धि योजना में जरूरी बात

Important thing in Sukanya Samriddhi Yojana

साल की इस फ़ाइनेंष्यल साल मे इन्टरेस्ट रेट 9.1% है जो की अन्य योजनाओ की तुलना मे बहुत अच्छा है परंतु यह हर साल के लिए फिक्स नही है। ये इंटरेस्ट रेट मार्केट की कंडिशन के हिसाब से परिवर्तित होगा। RBI के पास इंटरेस्ट रेट चेंज करने का अधिकार है।

जैसा कि सुकन्या समृद्धि खाता योजना एक PPF खाता हैं अतः ये उन सभी बैंक में उपलब्ध होगी जहाँ PPF अकाउंट की सुविधा प्राप्त हैं। अब तक की जानकारी के हिसाब से SBI Bank ने सुकन्या समृद्धि खाता शुरू करने की बात कही हैं सुकन्या समृद्धि खाता कन्या के भविष्य को सुरक्षित रखने हेतु लागू किया गया हैं। बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के तहत सुकन्या समृद्धि खाता एक अच्छी योजना है।

Click to comment

Most Popular

To Top