प्रधानमंत्री योजना

जानिए क्या है किसान विकास पत्र योजना, किसान कैसे कर सकते हैं अपने पैसे डबल

जानिए क्या है किसान विकास पत्र योजना, किसान कैसे कर सकते हैं अपने पैसे डबल

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा किसानों के हित में बनायी गयी किसान विकास पत्र केंद्र सरकार की एक योजना है। ये लम्बे समय तक निवेश करने का जरिया है। जिसका लाभ डाकघर से लिया जा सकता है। इसमें निवेश किया जाता है। इसमें न्यूनतम निवेश 100 रुपए तक किया जा सकता है।

इसकी समय सीमा आठ साल की होती है। इन आठ साल में डाकघर आपके निवेश पर 8.40 फीसदी का ब्याज लगाकर देता है। इसमें आसानी से निवेश हो सकेगा और कम आय वाले परिवारों को निवेश करने का अच्छा मौका मिलेगा। इसमें आपका पैसा सौ महीने में दोगुना हो जाएगा। इसे योजना को एक नए रूप में लांच किया गया है, जिससे आप ढाई साल में रुपये वापस ले सकेंगे।

क्या है किसान विकास पत्र योजना

What is the Kisan Vikas Patra scheme

किसान विकास पत्र को शॉर्ट में KVP (Kisan Vikas Patra) कहा जाता है। किसान विकास पत्र योजना छोटी बचत यानी कम आय वाले परिवारों की बचत को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गई है। पहले केवीपी 100, 500, 1000, 10000 और 50000 रुपये के मूल्य में जारी किए जाते थे।

इसमें न्यूनतम निवेश 100 रुपये है। निवेश की कोई ऊपरी सीमा नहीं है। ये केंद्र सरकार की योजना है। किसान विकास पत्र पर interest सालाना करीब 8.7 % था पर अब economic slow down के चलते ये 7.8 % तक आ गया है। किसान विकास पत्र की maturity time 8 साल 4 महीने है।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है स्वर्ण मुद्रीकरण योजना, कैसे थोड़े से सोने को बनाएं कमाई का जरिया

किसान विकास पत्र योजना का फायदा

Advantage of Kisan Vikas Patra Yojna

आठ साल चार महीने में रक़म दोगुनी

निवेश की कोई सीमा नहीं

कम से कम 1000 रुपये का किसान विकास पत्र

किसान विकास पत्र 1000, 5000, 10,000 और 50,000 रुपये के मूल्य में उपलब्ध

100 महीने (आठ साल चार महीने) में दोगुना हो जाएगा

योजना के तहत सालाना 8.7 प्रतिशत का ब्याज

दूसरों को ट्रान्सफर करने की भी सुविधा

किसान विकास पत्र ट्रान्सफर किये जा सकते है और धारक इसे किसी दूसरे को दे सकता है जिसके लिए बैंक या पोस्ट ऑफिस के ऑफिसर को एप्लीकेशन देनी होगी लेकिन अन्य धारक भी पॉलिसी के अनुरूप योग्य होना चाहिये।

किसान विकास पत्र के लिए योग्यता

Eligibility for Kisan Vikas Patra

भारतीय नागरिक जिसकी उम्र 18 वर्ष से अधिक हो
अवयस्क के नाम पर उसके पालको द्वारा किसान विकास पत्र ख़रीदा जा सकता हैं।
किसी संस्था/ ट्रस्ट द्वारा किसान विकास पत्र लिया जा सकता हैं।

दो व्यक्ति द्वारा जॉइंट स्कीम के तहत भी किसान विकास पत्र ख़रीदे जा सकते है।

किसान विकास पत्र के प्रकार

Types of Farmer Development Letters

ये चार  प्रकार की राशि में बांटे गये हैं। धारक अपनी सुविधा अनुसार इनका चुनाव कर सकता है।

1000

5000

10000

50000

किसान विकास पत्र पेमेंट मोड

Farmer development letter payment mode

किसान विकास पत्र किसी भी पोस्ट ऑफिस/ बैंक से प्राप्त किया जा सकता है जिसके लिए भुगतान निम्न तरीकों से किया जा सकता है।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है हरियाणा सरकार की स्वैच्छिक प्रकटीकरण योजना, मीटर लगवाने में होगी आसानी

कैश पेमेंट

चेक

डिमांड ड्राफ्ट

उसी बैंक के सेविंग अकाउंट के विड्रावल फॉर्म पर उपभोक्ता के हस्ताक्षर द्वारा। कैश पेमेंट के जरिये किसान विकास पत्र उसी वक्त हाथ में दे दिए जाते हैं लेकिन चेक या डिमांड ड्राफ्ट या किसी अन्य तरीके से किसान विकास पत्र खरीदने पर पत्र कुछ समय बाद धारक को दिया जाता हैं।

किसान विकास पत्र योजना में निवेश

Investment in Kisan Vikas Patra scheme

किसान विकास पत्र के लिए धारक को न्यूनतम 1000 रुपये जमा करना जरुरी है  लेकिन अधिकतम पर कोई सीमा नहीं है। धारक जितने चाहे उतने किसान विकास पत्र ले सकता है।

किसान विकास पत्र योजना टैक्स बेनिफिट

Kisan Vikas Patra Plan Tax Benefit

किसान विकास पत्र पर किसी भी तरह का टैक्स बेनिफिट नहीं दिया गया है लेकिन निकासी के वक्त  प्राप्त राशि को टैक्स फ्री/ कर मुक्त रखा गया है।

विड्रावल स्कीम

withdrawal scheme

किसान विकास पत्र 100 महीने अर्थात 8 वर्ष 4 महीने में पुरा होगा,  जिसके बाद धारक को दो गुनी राशि मिलेगी।

किसान विकास पत्र  में प्री मेच्युर विड्रावल मतलब समय से पहले धन निकासी का कोई प्रावधान नहीं है। प्री मेच्युर विड्रावल उसी स्थिती में संभव हैं जब धारक की मृत्यु हो जाए उसके लिए उचित कार्यवाही का तरीका है। लेकिन यह भी 30 महीने की अवधि के बाद ही संभव है।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है हरियाणा सरकार की प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि केंद्र योजना

किसान विकास पत्र के लिए जरूरी दस्तावेज

Documents required for Kisan Vikas Patra

किसान विकास पत्र  के लिए धारक को निम्न दस्तावेज पोस्ट ऑफिस अथवा बैंक में देना होगा

दो पासपोर्ट साइज़ फोटो

आइडेंटिटी कार्ड (राशन कार्ड, चुनाव परिचय पत्र,पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेन्स आदि | एड्रेस प्रूफ (बिजली बिल,टेलीफोन बिल,बैंक पासबुक आदि।
अगर इन्वेस्टमेंट 50000 रूपये से अधिक का हैं उस स्थिती में पैन कार्ड जरूरी है।

किसान विकास पत्र के खो जाने पर क्या करें

What to do if the Kisan Vikas Patra is lost

अगर किसी कारण से धारक का  किसान विकास पत्र खो जाता हैं या चोरी कर लिया जाता हैं तो वह पोस्ट ऑफिस अथवा बैंक से उसे दुबारा प्राप्त कर सकता है।

किसान विकास पत्र योजना में लोन बेनेफिट्स

Loan Benefits in Kisan Vikas Patra Yojana

आवश्यकता पड़ने पर किसान विकास पत्र को बैंक से लोन लेने के लिए सुरक्षा के रूप में गिरवी भी रखा जा सकता हैं।

Click to comment

Most Popular

To Top