जानिए क्या है अमृत योजना, कैसे आपके गांव को बनाया जाएगा शहर
प्रधानमंत्री योजना

जानिए क्या है अमृत योजना, कैसे आपके गांव को बनाया जाएगा शहर

भारत में कई ऐसे गांव या कस्बे हैं जहां तक कई बड़ी योजनाएं या फिर सुविधाएं नहीं पहुंच पाती। जिसक वजह से वो इलाके और पिछड़ने लगते हैं और देश के विकास में कोई योगदान नहीं दे पाते।

इस समस्या ये निपटने के लिए मोदी सरकार ने 2015 में एक अमृत योजना तैयार की जिससे उन गांव और क्सबों को शहर से जोड़ा जाए और उनके क्षेत्र में विकास की रफ्तार को तेज किया जाए।

क्या है अमृत योजना

अमृत योजना के तहत गांव और कस्बों में पानी, बिजली, अस्पताल जैसी बुनीयादी सुविधाएं मुहैया कराई जाती हैं। अमृत योजना का पूरा नाम अटल वीनिकरण और शहरी परिवर्तन मिशन है। अमृत योजना के तहत मोदी सरकार ने 5000 करोड़ रुपये का बजट बनाया है। अमृत योजना नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 2015 जून से शुरू किया गया है।

अमृत योजना का मकसद

अमृत योजना मकसद देश के हर गांव और कस्बे में बीजली, पानी और हर तरह की शहर से जूड़ी सुविधा मुहैया कराना है। जिसके के तहत मोदी सरकार ने अमृत योजना के लिए पांच साल में 5000 करोड़ रुपये खर्च करने का प्लान बनाया है।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है महाराष्ट्र सरकार की पत्रकारों के लिए पेंशन योजना, मिलेगा ये फायदा


अमृत योजना के तहत गांव और कस्बों में लोगों को डीजिटल, ई-गवर्नेनन्स से जूड़ी हर सुविधा ले जाना है। जिससे उन इलाकों में शहरों की तरह सुविधाओं का इस्तेमाल लोग कर सकें और ज्यादा से ज्यादा लोग सरकार की बनाई योजना का फायदा ले पाएं।

अमृत योजना का मकसद ई-गवर्नेनन्स के जरीये उन इलाकों के लोगों को बिजली के बिल, घर का टैक्स, पानी का बील या फिर किसी और तरह की सेवा के लिए सुनिश्चित करना भी रहेगा। साथ ही अमृत योजना का मकसद राज्यों की सरकारों से तालमेल बढ़ाना भी है।

जिसके लिए मोदी सराकर ने कहा है कि जो राज्य अमृत योजना को बेहतर रूप से लागू करते हैं उनके लिए 10% बजट बढ़ाया जाएगा। यानि आपके गांव और कस्बे को बनाने के लिए राज्य की सरकार की बड़ी भूमिका रहेगी।

इसे भी पढ़े   छत्तीसगढ़ सरकार ने शुरू की किसानों के लिए ऑनलाइन खसरा एवं प्रमाणित नक्शा उपलब्ध योजना

अमृत योजना से फायदा

अमृत योजना के तहत आपके इलाके को काफी बड़ा फायदा होगा। जिसमे सबसे ज्यादा फायदा शिक्षा और स्वास्थ्य से जूड़ा हुआ है। अमृत योजना के लागू करने से आपके इलाके में रोजगार बढ़ेंगे और बिजली की जरूरत पूरी की जाएगी।

शहरों से जुड़ने के लिए हर साधन आपके इलाके में होगा। आपके बच्चों के लिए अच्छे स्कूल और कॉलेजों की सुविधा होगी। इसके साथ ही अमृत योजना के तहत आपके इलाके में स्वच्छ भारत अभियान में लागू होने वाली शर्तें रहेंगी।

अमृत योजना में कैसे आयेगा आपका गांव

अमृत योजना के तहत गांव और कस्बों को शहरों से जोड़ने के लिए हर राज्य में कई टीम गठीत की गई हैं। जो अपने इलाके की जानकारी पहले राज्य सरकार और फिर केन्द३ सरकार को देगी। जिसके बाद ये निर्धारीत किया जाएगा कि किस गांव को पहले अमृत योजना से जोड़ा जाए।

अमृत योजना के तहत गांव और कस्बों को बेहतर बनाने के लिए सरकार अपनी टीम को नियमित भेजती रहेगी। ताकि अमृत योजना के पूरे होने के बाद किसी अन्य कारण से योजना पर कोई असर न पड़े और ज्यादा से ज्यादा लोग अन्य योजनाओं से जूड़ते रहें।

इसे भी पढ़े   जानिए क्या है हरियाणा की ई सेवा ऐप, अब हर योजना का लाभ मिलेगा एक क्लिक पर

कहां लागू होगी अमृत योजना

अमृत योजना हर शहर, गांव या कस्बे के लिए नहीं होगी इसके लिए आपके इलाके में किसी तरह की पांच छोटी नदियों का होना जरूरी है। इसके साथ ही अमृत योजना पहाड़ी इलाकों में भी लागू की जाएगी मगर वहां पर्यटन होना जरूरी है। सबसे बड़ी बात ये है कि अमृत योजना का लाभ लेने के लिए आपके इलाके में कम से कम एक लाख लोगों का रहना जरूरी है।

ओडीशा में शुरू हुई अमृत योजना

अमृत योजना के तहत ओडीशा सरकार ने मोदी सरकार को अपने इलाकों की एक लिस्ट भेजी थी जिसके लिए 53 शहरी परियोजना की इजाजत दे दी गई है। जिसके लिए 538 करोड़ का बजट भी बनाया गया है।

जानिए क्या है अमृत योजना, कैसे आपके गांव को बनाया जाएगा शहर
Click to comment
To Top